पुलगांव : पैसेंजर ट्रेन बंद रहने से गरीब यात्रियों की आफत

October 13th, 2021

डिजिटल डेस्क, पुलगांव। रेलवे प्रशसान द्वारा 23 सितंबर को वरिष्ठ अधिकारी से किए जाने वाले पत्र व्यवहार से पैसेंजर ट्रेन शुरू होने की आशा दैनिक यात्रा करने वाले गरीब, मजदूर, छोटे व्यापारी को थी। साथ ही ऐसा प्रतित हो रहा था कि पैसेंजर ट्रेन के स्थान पर मेमो ट्रेन की अनुमति मिल जाएगी व मेमो ट्रेन  अक्टूबर के पहले सप्ताह में शुरू होगी, जिससे नागपुर से बडनेरा आवागमन करने वाले सैकड़ों यात्रियों को राहत मिलेगी। लेकिन  10 अक्टूबर होने पर भी रेलवे विभाग ने ट्रेन शुरू करने की कोई सूचना प्रसारित नहीं की है। इस कारण   रेलवे विभाग द्वारा उच्च स्तरीय पत्र व्यवहार कर एक प्रकार से यात्रियों के साथ खिलवाड़ करने की चर्चा यात्रियों में की जा रही है।

कोरोना के प्रकोप की वजह से सभी ट्रेनें बंद कर दी गई थी।   कुछ समय कुछ ट्रेनों को कोविड स्पेशल ट्रेन बनाकर चलाया गया। अब राज्य सरकार ने मंदिरों से लकेर मॉल आदि शुरू करने की  अनुमति दी है। एेसे में रेलवे प्रशासन  पैसेंजर, मेमो ट्रेन शुरू करने में अपनी असमर्थता क्यों दिखा रहा है, यह अपने आप में एक प्रश्न निर्माण होता है। देश में अधिकांश लोगों ने कोरोना के टीके के दोनों डोज ले लिए हैं। एेसे में ट्रेन शुरू करने पर ट्रेन से यात्रा करने वाले यात्रियों के पास से वैक्सीन का प्रमाणपत्र लेकर उन्हें साधारण टिकट  पर यात्रा करने की अनुमति देने का एक रास्ता हो सकता है परंतु रेलवे विभाग एेसा कोई निर्णय नहीं ले रहा है।

स्थानीय जनप्रतिनिधि, रेलवे सलाहकार समिति के सदस्य और रेलवे की केंद्रीय समिति के सदस्य सांसद रामदास तड़स ने भी इस संबंध में मौन धारण कर लिया है। इस मुद्दे पर स्थानीय जनप्रतिनिधि कोे ध्यान देकर हल निकालने में जनता की मदद करने की उम्मीद की जा रही है। पहले ही कोरोना के प्रकोप के कारण पुलगांव रेलवे स्टेशन पर रुकने वाली ट्रेन वर्धा अथवा धामनगांव रेलवे स्टेशन पर रुकती है परंतु पुलगांव में नहीं रुकती है। रेलवे विभाग का यह निर्णय आम यात्री के समझ के परे है। अब रेलवे प्रशासन मेमो ट्रेन शुरू कर यात्रियों को राहत देगी एेसी उम्मीद  है।