comScore

राजनांदगांव : कर्ज माफी योजना से वर्षों से कालातीत श्रेणी के किसानों को पुन ऋण प्राप्त करने की मिली पात्रता

July 22nd, 2020 18:18 IST
राजनांदगांव : कर्ज माफी योजना से वर्षों से कालातीत श्रेणी के किसानों को पुन ऋण प्राप्त करने की मिली पात्रता

डिजिटल डेस्क, राजनांदगांव। कृषकों की समर्पित भावना से सेवा कर रहे हैं जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक एवं समिति राजीव गांधी न्याय योजना एवं फसल बीमा योजना की राशि का सहकारी केन्द्रीय बैंक के माध्यम से भुगतान राजनांदगांव 21 जुलाई 2020 जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित राजनांदगांव के अंतर्गत राजनांदगांव जिले में 89 सेवा सहकारी समिति एवं कबीरधाम जिले में 60 सेवा सहकारी समिति के माध्यम से कुल 281 खाद केन्द्रों से कृषकों की मांग अनुरूप रासायनिक खादों का भण्डारण एवं वितरण प्राथमिकता के आधार पर किया गया है। छत्तीसगढ शासन की महत्वपूर्ण किसान हितैषी ऋण माफी योजना के क्रियान्वयन के कारण जिले के किसानों को राशि 1048 करोड़ रूपए का ऋण माफी की गई थी, इस कारण वर्षो से कालातित ऋणी किसान सदस्यों को नियमित किसान के रूप में सेवा सहकारी समिति द्वारा पुन: ऋण प्राप्त करने की पात्रता प्राप्त हुई। योजना से किसानों की आर्थिक मजबूती तथा दण्ड ब्याज से मुक्ति हुई हैं और उनकी उन्नति की राहें खुली हंै। जिसके लिए किसान शासन के आभारी है। किसानों में फसल बीमा के प्रति रूझान बढ़ा है। बैंक द्वारा समस्त शाखा प्रबंधकों तथा समिति केन्द्र प्रभारियों को फसल बीमा योजना एवं अन्य योजनाओं के बेहतरीन क्रियान्वयन के लिए बधाई के पात्र है। उल्लेखनीय है कि जिले में सर्वाधिक किसान जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक से ही संबद्ध है तथा बैंक द्वारा जारी राजनांदगांव जिले के एक लाख 82 हजार 578 किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड एवं जिला कबीरधाम के 75 हजार 683 किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से ही कृषक ऋण का वितरण किया जा रहा है। प्रदेश मे लॉकडाउन की स्थिति होने के उपरांत भी माह जुलाई के द्वितीय सप्ताह तक सर्वाधिक ऋण वितरण कर जिला बैंक प्रदेश मे तीसरे स्थान पर रहा है तथा निर्धारित खरीफ ऋण वितरण लक्ष्य राशि 900 करोड़ रूपए के विरुद्ध 750 करोड़ 35 लाख रूपए का ऋण वितरण किया जा चुका है। जो कि गतवर्ष इसी अवधि में वितरित कृषि ऋणों से 2 गुना अधिक है, जो कि कृषकों के प्रति बैंक एवं समिति के समर्पण का प्रतीक है। इसी प्रकार निर्धारित बीमा कंपनी द्वारा अब तक प्रेषित फसल बीमा क्षतिपूर्ति राशि 157 करोड़ रूपए का वितरण भी संबंधित किसान सदस्यों के खाते में जमा कर दी गई है, शेष प्रक्रियाधीन है। साथ ही केन्द्र द्वारा प्राप्त किसान सम्मान निधि की राशि 52 करोड़ 59 लाख का वितरण भी पात्र किसानों को संबंधित शाखाओं के माध्यम किया जा रहा है। जिला बैंक द्वारा प्रधानमंत्री केसीसी पशुपालन एवं डेयरी ऋण योजनांतर्गत 9 प्रकरण राशि 11.45 लाख रूपए स्वीकृत किये गए। प्रधानमंत्री केसीसी मछलीपालन ऋण योजनांतर्गत 11 प्रकरण राशि 19.42 लाख रूपए तथा उद्यानिकी के 1 प्रकरण 1 लाख रूपए स्वीकृत किए गए है। छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य में फसल उत्पादन को प्रोत्साहन करने और किसानों को उनकी उपज का सही दाम दिलाने के लिए राजीव गांधी किसान न्याय योजना की शुरूवात की गई। इस योजनांतर्गत किसानों को भुगतान हेतु शासन से 120 करोड़ प्राप्त हुये थे। जिसे शाखाओं के माध्यम से किसानों को भुगतान किया जा रहा है। बैंक द्वारा शासन द्वारा निर्धारित सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी कराया जा रहा है। इसी संबंध में कलेक्टर एवं अध्यक्ष श्री टोपेश्वर वर्मा द्वारा उप संचालक कृषि राजनांदगांव व जिला विपणन अधिकारी राजनांदगांव तथा बैंक के मुख्य कार्यपालन अधिकारी तथा सहकारिता विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर खाद-बीज तथा ऋण वितरण कार्यो की गहन समीक्षा की गई। जिले हेतु निर्धारित खाद के लक्ष्य पूर्ति पर संतोष व्यक्त किया गया है तथा बैंक को और अधिक केसीसी ऋण उपलब्ध कराने हेतु निर्देशित किया गया है। वर्तमान मे किसानों के सर्वोच्च महत्व के कृषि फसल बीमा की अंतिम तिथि 15 जुलाई निर्धारित थी। इस हेतु जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित राजनांदगांव द्वारा क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों समिति अध्यक्षों तथा क्षेत्रीय विधायकों समन्यवय स्थापित कर ग्रामीण क्षेत्रों में प्रसार-प्रचार तथा बीमा कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता देने के कारण बैंक द्वारा राज्य तथा जिले में स्थित बैंकों में सर्वाधिक किसानों का फसल बीमा आवरण सुनिश्चित किया गया है। उल्लेखनीय है कि जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक राजनांदगांव द्वारा गत वर्ष खरीफ 2019 में सर्वाधिक किसानों का बीमा किया गया था तथा क्षेत्र के किसानों को सर्वाधिक क्षतिपूर्ति राशि 152 करोड़ रूपए अब तक प्राप्त हो चुकी है। जिसे कि संबंधित किसानों को प्रदान कर दी गई है तथा शेष प्रक्रियाधीन है।

कमेंट करें
rgq3l