दैनिक भास्कर हिंदी: सागर : 24 घंटे में 63 शवों का अंतिम संस्कार, जिसने भी देखा यह मंजर रोंगटे खड़े हो गए

April 22nd, 2021



डिजिटल डेस्क सागर। जिले के सौ साल के इतिहास में ऐसा शायद पहली बार हुआ जबकि 24 घंटे भीतर 63 शवों का मुक्तिधामों में अंतिम संस्कार किया गया। जिसने भी यह मंजर देखा उसके रोंगटे खड़े हो गए। नरयावली नाका मुक्तिधाम में गुरूवार को 17  और काकागंज मुक्तिधाम में 13 शवों का अंतिम संस्कार हुआ। एक शव का कब्रिस्तान में अंतिम संस्कार किया गया। बुधवार रात्रि मेें एक साथ 32 शवों का कोविड प्रोटोकाल के तहत अंतिम संस्कार किया गया। परिजनों ने डेढ़ सौ मीटर दूर खड़े होकर अपने प्रिय को अंतिम विदाई दी। कोरोना गाइडलाइन के कारण  परिजन अंतिम संस्कार में दूर से शामिल हुए। मुक्तिधाम में चारों तरफ अपनों को खोने से दुखी लोग रोते-बिलखते नजर आए।
रोज बड़ी संख्या में अंतिम संस्कार को पहुंच रहे शव
नरयावली नाका मुक्तिधाम में रोजाना बड़ी संख्या  में अंतिम संस्कार के लिए शव पहुंच रहे हैं। ऐसे में मुक्तिधाम के शेड में शव जलाने की जगह फुल हो चुकी है। मुक्तिधाम के खुले परिसर में अब शवों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है। कोई अपनी मां को तो कोई पिता समेत अन्य परिजन को अंतिम विदाई देने नरयावली नाका मुक्तिधाम पहुंच रहा है। अंतिम संस्कार के बाद घर लौटने वाले हर व्यक्ति और वाहनों को सैनिटाइज भी किया जा रहा है।
अंतिम संस्कार की नई व्यवस्था
बुधवार रात एक साथ 32 शवों का अंतिम संस्कार किए जाने के बाद गुरूवार से नई व्यवस्था लागू की गई है। जिसके तहत नगर निगम सीमा में स्थित अस्पतालों  में कोरोना उपचार के दौरान मृत मरीजों का नरयावली नाका मुक्तिधाम और काकागंज मुक्तिधाम में क्रिया कर्म किया जाएगा। इसके अलावा मकरोनिया नगर पालिका क्षेत्र में स्थित अस्पतालों में उपचार के दौरान मृत मरीजों का उसी क्षेत्र के मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार होगा। इसके पहले अभी तक सभी शवों का नरयावली नाका मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार किया जाता था।

खबरें और भी हैं...