• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • The act of the recovering police, the beating of the UP family fiercely - demanded five thousand rupees.

दैनिक भास्कर हिंदी: वसूलीबाज पुलिस का कारनामा ,यूपी के परिवार की जमकर की पिटाई - धमकी देकर मांगे पांच हजार रू.

June 17th, 2020

डिजिटल डेस्क सीधी। रीवा से मोहनिया घाटी की ओर सीधी आ रहे उत्तर प्रदेश के एक परिवार ने पुलिस का इशारा समझने में भूल क्या कर दी कि उन्हें घंटों परेशान किया गया। इतना ही नहीं चालक सहित परिजनों केा जमकर पीटा भी गया और बोलेरो वाहन छोडऩे के एवज में रूपयों की मांग की जाती रही। 
जानकारी के मुताबिक सतना से रीवा और फिर मोहनिया घाटी होकर सीधी आ रहे उत्तरप्रदेश मिर्जापुर जिले के नेवादा गांव निवासी योगेश सिंह के बोलेरो चालक को मोहनिया चेक पोस्ट पर तैनात पुलिसकर्मी ने रूकने का इशारा दिया किंतु आगे-आगे चल रहे हाईवा वाहन को इशारा देने की बात समझने की भूल क्या कर दी पुलिस ने अपना असल रूप ही दिखा दिया है। योगेश सिंह के मुताबिक बोलेरो क्र. यूपी 63 एएल 3909 को चालक चेक पोस्ट के आगे लेकर चला जा रहा था कि वहां तैनात पुलिसकर्मियों ने उनका पीछा कर लिया। बाद में वाहन को चौकी लाया गया और चालक की जमकर पिटाई की गई साथ ही बोलेरो में सवार योगेश सहित उनके परिजनों को भी पीटा गया। इस दौरान कोविड-19 के नियम कायदों के तहत बंद कर देने, धारा लगा देने की तो धमकी दी ही गई साथ ही छोडऩे के एवज में 5 हजार रूपये की मांग की जाती रही है। यह तो अच्छा था कि घटना की जानकारी चुरहट थाना प्रभारी हितेन्द्रनाथ शर्मा को लग गई जहां परेशान लोगों को उनके गंतव्य के लिये रवाना किया गया। बता दें कि लाकडाउन के दौरान भी मोहनिया चेक पोस्ट वाहनों से अवैध वसूली के मामले में सुर्खियों में रहा है। अनलाक होने के बाद वाहनों के आवाजाही में कोई रोंकटोंक न होने के बाद भी मोहनिया चेक पोस्ट में उक्त वाहन केा इसलिये  रोंका गया और चालक सहित अन्य के साथ मारपीट की गई कि उसमें यूपी का नंबर लिखा हुआ था। इस संबंध में पीडि़त योगेश सिंह ने कहा कि पुलिस का यह कृत्य बाहरी लोगों के लिये परेशानी का सबब तो बन ही रहा है साथ ही मप्र की पुलिस पर बदनुमा दाग भी लगा रहा है। उन्होंने पुलिस अधीक्षक का ध्यान आकृष्ट कराते हुये चौकी प्रभारी सहित तैनात स्टाफ पर कार्रवाई की मांग की है।