ग्राम धमना: मुख्यमंत्री ने ग्राम धमना में नोनेराम प्रजापति के घर पर किया भोजन!

October 30th, 2021

डिजिटल डेस्क | सागर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को छतरपुर जिले के राजनगर विकासखण्ड के ग्राम धमना में नोनेराम प्रजापति के घर पहुंचे। उन्होंने परिवार के सदस्यों से परिचय प्राप्त किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान का परिवारजनों ने स्वागत किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने परिवार के सदस्यों के साथ दोना-पत्तल में दोपहर का भोजन किया। परिवार के सदस्यों ने आत्मीय प्रेमभाव से भोजन परोसा। सीएम ने उत्साह से भोजन कर देषी भोजन की तारीफ की। नोनेराम प्रजापति के परिवारजन और यहां उपस्थित स्वसहायता समूह की महिलाओं ने मुख्यमंत्री को अपने बीच पाकर प्रसन्नता जाहिर की।

भोजन के बाद मुख्यमंत्री ने नोनेराम के परिवार के बुजुर्ग सदस्य और पत्नी एवं बच्चों का हाल चाल जाना। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने रोषनी स्वसहायता समूह धमना की महिला सदस्यों द्वारा निर्मित उत्पादों की सराहना की और बुंदेलखण्ड टेराकोटा कला द्वारा मिट्टी से निर्मित गमले, लालटेन, झोपड़ी, जग, पेड़, हाथी जैसे आकर्षक वस्तुओं का अवलोकन किया। उन्होंने कहा कि इस प्राचीन कला को विकसित कर रोजगार से जोड़ने की जरूरत है। स्थानीय बाजारों में उत्पादों के विक्रय का उचित प्रबंध किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने चाक पर बनाया दिया और गमला मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नोनेराम प्रजापति के साथ चाक पर स्वयं मिट्टी का दिया और गमला बनाया। उन्होंने कहा कि मिट्टी निर्मित उत्पादों के लिए मिट्टी की सुलभ उपलब्धता की व्यवस्था बनाई जाएगी। इसके अतिरिक्त माटी कला को बढ़ावा देने के लिए प्रषिक्षण भी दिया जाएगा।

उन्होंने जनता से मिट्टी के कारीगरों द्वारा निर्मित उत्पादों को खरीदने की अपील की, जिससे इनके उत्पाद की मांग बढ़ सके। सीएम द्वारा लोगों से कोरोना के टीके लगवाने की अपील भी की गई। महिलाओं ने भेंट किया उपहार मुख्यमंत्री श्री चौहान को स्वसहायता समूह की महिलाओं ने दीपावली के उपहार के रूप में हस्तनिर्मित मिट्टी के दिये और अन्य उत्पादों का गिफ्ट हैम्पर सौजन्य भेंट किया। मुख्यमंत्री ने महिलाओं की आमदनी के बारे में जानकारी ली और समूह की महिलाओं के साथ फोटो खिंचवाई। उन्होंने उपस्थितजनों को दीपावली की शुभकामनाएं दी।

ग्रामीणजनों को किया सम्बोधित मुख्यमंत्री श्री चौहान ने भोजन के बाद ग्राम धमना में ग्रामीणजनों को सम्बोधित करते हुए कहा कि स्वसहायता समूह की महिलाओं के प्रयास से स्थानीय उत्पादों को निष्चित ही बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि वे स्थानीय कारीगरों के द्वारा निर्मित उत्पादों को प्रोत्साहित करने के उद्देष्य से ग्राम धमना आए हैं। मुख्यमंत्री ने यहां हस्तनिर्मित उत्पादों को खरीदा। उन्होनें कहा कि समूह की महिलाओं की आमदनी प्रतिमाह न्यूनतम 10 हजार रुपए करने का प्रयास किया जाएगा। प्रदेश में 1 लाख सरकारी पदों पर युवाओं को नौकरी दी जाएगी।

निजी नौकरियों में भी रोजगार के लिए बेहतर अवसर उपलब्ध होगा। स्ट्रीट वेंडर्स योजना के माध्यम से छोटे व्यापारियों को बगैर ब्याज के 10 हजार रुपए का ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने धमना के मिडिल स्कूल को अगले शैक्षणिक सत्र से हाई स्कूल के रूप में उन्नयन करने की बात कही। इसके अतिरिक्त किसानों को उर्वरक के लिए धैर्य बरतने की सलाह भी दी। उन्होंने अवगत कराया कि आगामी दिनों में उर्वरक की पर्याप्त रैक जिले में पहुंचेगी। कार्यक्रम में बड़ामलहरा विधायक एवं नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष प्रद्युम्न सिंह लोधी, चंदला विधायक राजेश प्रजापति सहित प्रषासनिक एवं पुलिस अधिकारी और बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...