दैनिक भास्कर हिंदी: बस केबिन में सो रहे ड्राईवर की करंट के चपेट में आने से मौत

May 21st, 2018

डिजिटल डेस्क, सीधी। यात्री बस की छत के केबिन में सो रहे चालक की करंट लगने से मौत हो गई है। घटना जिले के अमिलिया थानान्तर्गत ग्राम गेरूआ छांदा की है। यहां 11 केवी विद्युत लाइन का यह तार काफी समय से लूज होकर नीचे झुका हुआ था, चालक जिसका अंदाजा नहीं लगाया पाया और छत में सोने के दौरान रात में करंट की चपेट में आ गया और मौत हो गई।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सीधी से बघोर चलने वाली शक्ति ट्रेवल्स बस क्रमांक MP 53 P 0788 का चालक, जगमोहन प्रजापति पिता मतलवी प्रजापति निवासी हिनौती, हर रोज की तरह रूट पर चलने के बाद शुक्रवार की रात्रि बस को गेरूआ छांदा में खड़ी कर भोजन के बाद चालक बस की छत में बने केबिन में बिस्तर लगाकर सो गया। बताया गया है कि रात्रि करीब 10.30 बजे बस के ऊपर से गुजर रहे 11 केवी विद्युत लाइन के सम्पर्क में आ गया जहां करंट की चपेट में आने से उसकी दर्दनाक मौत हो गई। घटना की जानकारी पुलिस को दी गई, मौके से पहुंची पुलिस द्वारा विभाग को सूचित कर बिजली बंद कराई गई इसके पश्चात विद्युत कर्मियों की मदद से काफी नजदीक झूल रहे बिजली तार को अलग कर मृतक चालक का शव बस की छत से नीचे उतारा गया, जहां पंचनामा उपरांत शव को पीएम के लिए अस्पताल भेजा गया।

बताया गया है कि 11 केवी विद्युत लाइन का यह तार पिछले काफी दिनों से लूज होकर झूल रहा था जिसे दुरूस्त करने के लिए ग्रामीणों द्वारा प्रशासन से शिकायत की गई थी। ग्रामीणों ने दो माह पूर्व बिश्राम गृह सिहावल में सांसद श्रीमती रीती पाठक व कलेक्टर दिलीप कुमार से भी तार लटकने की समस्या से अवगत कराया गया था। जिसे संज्ञान में लेते हुए सांसद व कलेक्टर द्वारा बिजली विभाग के आलाधिकारियो को तत्काल बिजली का तार दुरुस्त कराए जाने को निर्देशित किया गया था। लेकिन इस ओर ध्यान नहीं दिया गया। आखिर में विद्युत लाइन का यह तार टूट गया और नींद के आगोश में सोया बस चालक हमेशा के लिए सो गया।

जर्जर विद्युत लाइन बन रही मौत का कारण
प्रभावित गांव के ग्रामीणों की मानें तो क्षेत्र में विद्युत लाइन जर्जर हो चुकी है जहां कई ऐसे विद्युत तार हैं जो लूज होकर काफी नीचे झुके हुए हैं। कई घरों के ऊपर से गुजरे इन विद्युत तारों को देखा जाय तो यह घरों के खपरैल में भी टच किए हुए हैं। जिससे जान का खतरा घर के लोगो के ऊपर बना हुआ है लेकिन विद्युत विभाग के जिम्मेदार अधिकारी शिकायत के बाद भी जर्जर विद्युत लाइनों को दुरूस्त करने की पहल नहीं कर रहे हैं। बताया गया है कि सिहावल तहसील से एक किलोमीटर के अन्दर रामपुर मेन बाजार में जगह-जगह बिजली का केबिल जलकर टूट गया है फिर भी बिजली विभाग के कर्मचारियों द्वारा काट जोड़ कर करेन्ट दौड़ाया जा रहा है जिससे लोगो मे खौफ का माहौल बना हुआ है।

इनका कहना है
बिजली तार के टूटने से बस की छत में सो रहा चालक करंट की चपेट में आ गया और उसकी मौत हो गई। सूचना मिलने पर पुलिस दल पहुंचकर मार्ग से बिजली तार अलग कर मृतक के शव को अस्पताल भेजा गया जहां पीएम बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है।
दीपक बघेल थाना प्रभारी, अमिलिया