• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • UP 6 year old child kidnapped in Gonda recovered by police Accused arrested including woman who demanded Rs 4 crore ransom

दैनिक भास्कर हिंदी: UP: छुड़ाया गया अगवा बच्चा, 4 करोड़ की फिरौती मांगने वाली महिला समेत पांच गिरफ्तार

July 25th, 2020

हाईलाइट

  • गोंडा में व्यवसायी के पोते के अपहरण मामले में कार्रवाई
  • 4 करोड़ की फिरौती मांगने वाली महिला सहित पांच गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। उत्तर प्रदेश के गोंडा से अगवा हुए एक व्यवसायी के 6 साल के पोते को पुलिस ने सुरक्षित छुड़ा लिया है। किडनैपिंग के इस मामले में 4 करोड़ रुपये की फिरौती मांगने वाली महिला सहित पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं शासन की तरफ से बच्चे को सकुशल बरामद करने वाली पुलिस और एसटीएफ की टीम को 1-1 लाख रुपए इनाम की घोषणा की गई है।

जानकारी के मुताबिक, एसटीएफ, पुलिस और किडनैपर्स के बीच शुक्रवार देर रात मुठभेड़ हुई। जिसके बाद एक युवती समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। बताया जा रहा है, दो आरोपियों के पैर में गोली लगी है। मुठभेड़ के बाद ही किडनैपर्स के चंगुल से बच्चे को छुड़ाया गया। फिलहाल अपहरणकर्ताओं से पूछताछ चल रही है।

दरअसल पूरा मामला गोंडा के कर्नलगंज कोतवाली क्षेत्र का है। व्यवसायी राजेश कुमार गुप्ता के पोते को शुक्रवार शाम को अगवा किया गया था। परिजनों का कहना था कि, कार से स्वास्थ्य विभाग का परिचयपत्र गले में टांगकर कुछ लोग मोहल्ले में मास्क बांटने आए और लोगों का नाम एक कागज पर लिख रहे थे। वे जब राजेश गुप्ता के घर के सामने पहुंचे तो उन्होंने सेनिटाइजर देने की बात कही। व्यवसायी के भाई हरी गुप्ता से मोबाइल नंबर लेते हुए कहा, मास्क व सैनिटाइजर लेने के लिए किसी को गाड़ी तक भेज दीजिए। इस पर परिवारजन ने 6 वर्षीय आरुष उर्फ नमो को भेज दिया।

इसके बाद जैसे ही बच्चा गाड़ी के पास पहुंचा किडनैपर्स बच्चे को लेकर फरार हो गए। कुछ देर बाद बच्चा वापस घर नहीं लौटा तो परिवारजनों ने खोजबीन शुरू की। तभी हरी गुप्त के मोबाइल पर फोन करके बदमाशों ने 4 करोड़ रुपये की फिरौती की मांग की। साथ ही पुलिस को जानकारी न देने की धमकी भी दी। हालांकि अपहरण की पूरी वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। परिवार के लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी।

परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने तुरंत ही पूरे इलाके को सील कर दिया। पुलिस और एसटीएफ की टीम पूरी रात किडनैपर्स को खोजती रही और फिर किसी की निशानदेही पर टीम ने एक जगह छापा मारा और मुठभेड़ के बाद बच्चे को सुरक्षित बचा लिया। फिलहाल बच्चे को परिजनों को सौंप दिया गया है। 

उप्र एडीजी (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में घटना के बारे में बताया, किडनैपिंग में शामिल शाहपुर के रहने वाले सूरज पाण्डेय, उसकी पत्नी छवि पाण्डेय, सूरज का भाई राज पाण्डेय और इनके साथ दीपू कश्यप और उमेश यादव को भी गिरफ्तार किया गया है। पुलिस की कार्रवाई में उमेश यादव और दीपू कश्यप घायल हुए हैं। घटना में एक ऑल्टो गाड़ी, अपराधियों के पास से पिस्टल और दो तमंचे बरामद हुए हैं। फिलहाल घायलों का इलाज चल रहा है।

खबरें और भी हैं...