बलिया: बीमार ना रहेगा अब लाचार बीमारी का होगा मुफ्त उपचार

May 21st, 2022

डिजिटल डेस्क, बलिया। जिले में 4 मई से 18 मई तक आयुष्मान पाखवाड़े का आयोजन किया गया। जिसमें  1425 लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड बनाए गये। जनपद में अब तक कुल 290395 आयुष्मान कार्ड बनाये जा चुके हैं। यह कहना है मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ नीरज कुमार पाण्डेय का। 
डॉ पांडे ने बताया कि आयुष्मान भारत, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एवं मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान के कार्डधारक परिवार को प्रति वर्ष पांच लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज की सुविधा प्रदान की जाती है। अभियान में उन लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड बनाए गये, जिनका नाम योजना में तो शामिल है पर उनका आयुष्मान कार्ड अभी तक नहीं बन पाया था।
योजना के नोडल अधिकारी डॉ विजय यादव ने बताया की पखवाड़े के दौरान सभी शहरी व ग्रामीण प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के अतिरिक्त ग्राम के सार्वजनिक स्थल पर आयुष्मान कार्ड कैम्प आयोजित किये गये। पात्र परिवारों को योजना के प्रति जागरूक करते हुए अधिकतम पात्र लाभार्थियों के कार्ड बनवाने का हरसंभव प्रयास किया गया।  सभी जन सुविधा केद्रों (सीएससी) और आयुष्मान भारत योजना के आबद्ध चिकित्सालयों में भी लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड नि:शुल्क बनाए गये।
योजना के जिला कार्यक्रम समन्वयक डॉ चंद्र शेखर सिंह ने कहा कि सभी लाभार्थियों के पास आयुष्मान कार्ड होना जरूरी है ताकि जरूरत पड़ने पर उन्हें योजना से आबद्ध चिकित्सालय में नि:शुल्क उपचार मिलने में किसी तरह की दिक्कत न हो। उन्होंने बताया की योजना से आच्छादित परिवारों को प्रति वर्ष पांच लाख रुपये तक के नि:शुल्क उपचार की सुविधा दी जाती है। योजना के अंतर्गत उपचार के लिए जनपद में  कुल 25 सरकारी और निजी अस्पताल योजना से आबद्ध हैं। इनमें 12 सरकारी और 13 निजी क्षेत्र अस्पताल हैं।
उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को भी मिलेगा लाभ:-
पंजीकृत निर्माण श्रमिकों और अंत्योदय कार्ड धारकों के बाद सरकार अब उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को भी आयुष्मान भारत योजना का लाभ दे रही है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि जिले में उज्जवला योजना के 28970 लाभार्थी हैं। इनमें से कुछ पहले से ही आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी हैं, कुछ लोगों के नाम योजना में शामिल नहीं है, शीघ्र ही उनको योजना में शामिल कर उनका  आयुष्मान कार्ड बनाया जायेगा।