दैनिक भास्कर हिंदी: दिल्ली आने वालों के लिए आरोग्य सेतु एप अनिवार्य

May 24th, 2020

हाईलाइट

  • दिल्ली आने वालों के लिए आरोग्य सेतु एप अनिवार्य

नई दिल्ली, 24 मई (आईएएनएस)। दिल्ली सरकार ने रविवार को एक आदेश जारी कर अधिकारियों से कहा कि वे वायुमार्ग, ट्रेन व अंतरराज्यीय बस सेवा के जरिए घरेलू यात्रा पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी दिशा निर्देशों का पालन सुनिश्चित करें।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को घरेलू यात्रा के लिए दिशा निर्देश जारी किए, जिसमें यात्रियों को विभिन्न नियमों का पालन करते हुए मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने की भी सलाह दी गई है। दिल्ली सरकार ने सभी विभागों को आरोग्य सेतु एप, थर्मल स्क्रीनिंग और सामाजिक दूरी जैसे सभी दिशा-निर्देशों का पालन करने को कहा है।

दिल्ली के मुख्य सचिव विजय देव द्वारा हस्ताक्षरित एक आदेश में दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने दिल्ली के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग को आवश्यकता पड़ने पर इन दिशा-निर्देशों के कार्यान्वयन के लिए अपेक्षित एसओपी जारी करने की अनुमति दी।

यानी दिल्ली सरकार का स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग इन दिशा निर्देशों को लागू कराने के लिए एक मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी कर सकता है।

राज्य कार्यकारी समिति के अध्यक्ष के रूप में देव ने केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए संबंधित सभी अधिकारियों को निर्देश दिए हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को विदेशों से आने वाले यात्रियों के साथ ही घरेलू स्तर पर की जाने वाली यात्राओं को लेकर भी दिशानिर्देश जारी किए। मंत्रालय ने कहा कि यात्रियों को टिकट के साथ ही एयरलाइंस/बुकिंग एजेंसी की ओर से क्या करें, क्या न करें की लिस्ट दी जाएगी। इसके अलावा बोडिर्ंग से पहले थर्मल स्क्रीनिंग होगी और ऐसे ही यात्रियों को बोडिर्ंग की अनुमति दी जाएगी, जो स्क्रीनिंग पास करेंगे।

एयरपोर्ट और फ्लाइट्स का उचित सैनिटाइजेशन होता रहेगा, वहीं यात्रियों को एयरपोर्ट और फ्लाइट में सामाजिक दूरी का पालन करना होगा। एयरलाइन स्टाफ और एयरपोर्ट अधिकारी इस बात का पूरा ध्यान रखेंगे कि यात्री मास्क-ग्लव्स पहने हों और स्वच्छता का पूरा ख्याल रख रहे हों। यात्रियों को खुद इन बातों को लेकर सतर्क रहना होगा।

भारत के सभी हवाई अड्डे, बंदरगाह और सड़क मार्ग के बॉर्डर पर मौजूद स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी।

स्क्रीनिंग के दौरान लक्षण पाए जाने वाले यात्रियों को तुरंत अलग किया जाएगा और स्वास्थ्य प्रोटोकॉल के अनुसार उन्हें एक चिकित्सा केंद्र में ले जाया जाएगा और शेष यात्रियों को संबंधित राज्य और केंद्र शासित प्रदेश सरकारों द्वारा व्यवस्थित किए जाने के लिए उपयुक्त संस्थागत एकांतवास केंद्रों में भेज दिया जाएगा।

दिशानिदेशरें में कहा गया है कि अगर किसी व्यक्ति में कोई लक्षण पाए जाते हैं तो उन्हें जिला निगरानी अधिकारी या राज्य राष्ट्रीय कॉल सेंटर (1075) को सूचित करना होगा।

भारतीय रेलवे 12 मई से ही दिल्ली से विशेष ट्रेन संचालित कर रहा है। इसके अलावा अब 25 मई से घरेलू उड़ानें भी शुरू हो जाएंगी, वहीं एक जून से और भी ट्रेनें चलाई जाएंगी।