comScore

भारत में प्रति लाख आबादी पर कोरोना मामले दुनिया में सबसे कम : स्वास्थ्य मंत्रालय

June 22nd, 2020 19:00 IST
 भारत में प्रति लाख आबादी पर कोरोना मामले दुनिया में सबसे कम : स्वास्थ्य मंत्रालय

हाईलाइट

  • भारत में प्रति लाख आबादी पर कोरोना मामले दुनिया में सबसे कम : स्वास्थ्य मंत्रालय

नई दिल्ली, 22 जून (आईएएनएस)। भारत में कोरोनावायरस (कोविड-19) मामलों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। देश में सोमवार को कोरोना के मामलों की संख्या 4,25,282 तक पहुंच गई है और पिछले 24 घंटों के दौरान 14,821 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इस बीच केंद्र सरकार ने कहा कि भारत में प्रति लाख लोगों पर संक्रमण की दर वैश्विक स्तर पर सबसे कम है।

इसके लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की 21 जून की रिपोर्ट का हवाला दिया है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी रिलीज में कहा गया है कि भारत में प्रति लाख आबादी पर 30.04 कोरोना मामले सामने आए हैं, जबकि वैश्विक औसत मामले इसके मुकाबले तीन गुणा ज्यादा 114.67 है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि भारत में उच्च जनसंख्या घनत्व होते हुए भी अन्य देशों के मुकाबले प्रति लाख जनसंख्या के हिसाब से काफी कम कोरोना मामले सामने आए हैं।

मंत्रालय ने कहा कि अमेरिका में प्रति लाख 671.24 मामले हैं, जबकि जर्मनी, स्पेन और ब्राजील में क्रमश: 583.88, 526.22 और 489.42 है।

मंत्रालय ने कहा कि यह कम आंकड़ा राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के साथ भारत सरकार की तरफ से कोविड-19 की रोकथाम और उसके प्रबंधन को लेकर समय रहते उठाए गए कदमों का नतीजा है।

देश में अब तक कुल 2,37,195 कोविड-19 के मरीज ठीक हो चुके हैं। पिछले 24 घंटों में कुल 9,440 मरीज ठीक हुए हैं। कोविड-19 रोगियों के बीच रिकवरी दर 55.77 प्रतिशत है। वर्तमान में देश में 1,74,387 सक्रिय (एक्टिव) मामले हैं।

मंत्रालय ने कहा है कि देश में ठीक होने वाले व सक्रिय (डिस्चार्ज एंड एक्टिव) मामले में अंतर लगातार बढ़ता जा रहा है। मंत्रालय ने कहा कि डिस्चार्ज मरीजों की कुल संख्या एक्टिव मामलों की संख्या से 62,808 ज्यादा हो गई है।

मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 परीक्षण बुनियादी ढांचे में लगातार सुधार हो रहा है और इस दिशा में परीक्षण प्रयोगशालाओं की संख्या भी बढ़कर 985 हो गई है, जिनमें 723 सरकारी और 262 निजी प्रयोगशालाएं शामिल हैं।

देश भर में रियल-टाइम आरटी पीसीआर आधारित परीक्षण प्रयोगशालाएं 549 हैं, जिनमें 354 सरकारी और 195 निजी शामिल हैं। ट्रूनैट-आधारित परीक्षण प्रयोगशालाएं 359 हैं, जिनमें 341 सरकारी और 18 निजी संस्थाओं द्वारा संचालित हैं। इसके साथ ही देश में कुल 77 सीबीएनएएटी-आधारित परीक्षण प्रयोगशालाएं कार्यरत हैं, जिनमें 28 सरकारी और 49 निजी प्रयोगशालाएं शामिल हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने जानकारी दी कि प्रतिदिन परीक्षण किए जा रहे नमूनों (सैंपल) की कुल संख्या भी लगातार बढ़ रही है। मंत्रालय ने कहा कि पिछले 24 घंटों में 1,43,267 नमूनों का परीक्षण किया गया है, जबकि अब तक परीक्षण किए गए नमूनों की कुल संख्या 69,50,493 है।

कमेंट करें
gzQqc