सावधान: कंप्यूटर, स्मार्टफोन के इस्तेमाल से बढ़ रही है आँखों के सूखेपन की समस्या

October 27th, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक कुछ सालों पहले तक सूखेपन (ड्राई आइज) की परेशानी उम्र के साथ होने वाली परेशानी मानी जाती थी। लेकिन वर्तमान में स्मार्टफोन और कंप्यूटर के बढ़ते इस्तेमाल के कारण आंखो से संबधित कई समस्याएं सामने आई हैं। जैसे- आंखों में जलन, कम दिखाई देना या धुधंला दिखाई देना, सूखापन आदि। आंखों में सूखापन ऐसी ही एक समस्या है, जिससे लोग ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं, हालांकि आंखों के लिए नुकसान दायक कई चीजों जैसे- कम्पयूटर, स्मार्टफोन के बढ़े हुए इस्तेमाल के कारण अब बहुत ही कम उम्र के बच्चे भी इस समस्या से जूझ रहे हैं।

आंखो में पर्याप्त मात्रा में आंसू ना बनने के कारण या आंसुओं की गुणवता खराब होने के कारण लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ड्राई आइज के कारण आंखों में चुभन और जलन की दिक्कत बनी रहती है। आईए जानते है आंखों के सूखेपन के लक्षण...

 

•    आँखों के सूखेपन के लक्षण
•    आंखों में चुभन, जलन य़ा खरोच का एहसास होना।
•    प्रकाश के प्रति संवेदनशीलता।
•    आंखों का अक्सर लाल रहना।
•    कॉन्टैक्ट लेंस पहनने में कठिनाई।
•    रात के समय ड्राइविंग करने में कठिनाई।
•    आंखों से पानी आना, यह जलन के कारण होने वाली प्रतिक्रिया है।
•    धुंधला दिखाई देना।

•  आंखों में सूखापन की समस्या क्यों होती है?
आंसू के परदे की तीन परतें होती हैं: फैटी ऑयल, जलीय द्रव और म्यूकस। यह संयोजन विशेष तौर पर आपकी आंखों की परत को चिकना और साफ रखने में सहायक होता है। इनमें से किसी भी परत की समस्या के कारण आंखों में सूखापन की समस्या हो सकती है।

•  आंखो के सुखेपन की समस्या से कैसे बचें?
आंखो के सूखे-पन से बचने के लिए खान-पान में हरी सब्जियां, विटामिन-ए को आहर में जरुर शामिल करें। घर से बहार जाते समय, धूल और प्रदूषण से बचें, बहुत अधिक फोन का इस्तेमाल न करें और आंखों के लिए कुछ व्यायाम आदि को अपनाएं। स्क्रीन टाइम को कम करके भी इस समस्या से बचाव किया जा सकता है। 

हेयर ड्रायर, कार हीटर, एयर कंडीशनर या पंखे को सीधे अपनी और ना रखने । सबसे खास बात धूम्रपान इस समस्या को बढ़ा सकता है, इसलिए इससे दूरी बना लें। ड्राई आइज को ठीक करने के लिए स्वस्थ लाइफ-स्टाइल और पौष्टिक खान-पान बहुत आवश्यक होता है।