दैनिक भास्कर हिंदी: मप्र कारोना संक्रमण के मामले में देश में आठवें स्थान पर

June 14th, 2020

हाईलाइट

  • मप्र कारोना संक्रमण के मामले में देश में आठवें स्थान पर

भोपाल, 14 जून (आईएएनएस)। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थितियों में सुधार का राज्य सरकार द्वारा दावा किया जा रहा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का कहना है कि कोरोना संक्रमण की स्थिति के मामले में राज्य देश में आठवें स्थान पर आ गया है।

राज्य में कोरोना संक्रमण की स्थिति की रविवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए समीक्षा करते हुए चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण में प्रदेश की स्थिति में उल्लेखनीय सुधार हुआ है। अब प्रदेश पूरे देश में आठवें स्थान पर आ गया है। प्रदेश के सभी कोरोना पैरामीटर्स में भी उल्लेखनीय सुधार हुआ है।

उन्होंने आगे कहा, सक्रिय मामलों में एक दिन में 151 की कमी आई है तथा 300 मरीज स्वस्थ हुए हैं। अब हमारे एक्टिव प्रकरणों की संख्या 2666 है। हमारी डबलिंग रेट बढ़कर 34़ 1 दिन तथा रिकवरी रेट 71़ 1 प्रतिशत हो गई है। यह प्रदेश के लिए बहुत अच्छे संकेत हैं।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि, रिकवरी रेट में मध्यप्रदेश भारत में दूसरे स्थान पर है। राज्य का रिकवरी रेट 71़ 1 प्रतिशत हो गया है, जबकि भारत का 50़ 6 प्रतिशत है। राजस्थान का सर्वाधिक 75़ 3 प्रतिशत है। गुजरात की 68़ 9, उत्तरप्रदेश की 60 तथा तमिलनाडु की 54़8 प्रतिशत है।

बैठक में मुख्यमंत्री चौहान ने निर्देश दिए कि प्रदेश में कोरोना की मृत्युदर को न्यूनतम करना है। इसके लिए सभी कोविड अस्पतालों में सर्वश्रेष्ठ चिकित्सा सुविधा सुनिश्चित की जाए। ट्रीटमेंट प्रोटोकॉल का पूरा पालन किया जाए तथा हर मरीज पर विशेष ध्यान दिया जाए।

राज्य में सामान्य होती जिंदगी का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि लॉकडाउन खुलने के बाद अब जनजीवन सामान्य हो रहा है। इसलिए लोगों को जागरूक करना आवश्यक है कि वे सभी आवश्यक सावधानियां बरतें। मास्क लगाना, दो गज की दूरी रखना, इधर-उधर नहीं थूकना, बार-बार साबुन से हाथ धोना, सैनिटाइजर का उपयोग आदि सभी आवश्यक है। जागरूकता फैलाने के लिए जनसहयोग लिया जाए।

स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि भारत के सर्वाधिक संक्रमित 15 शहरों में प्रदेश का इंदौर शहर सातवें स्थान पर है। इस सूची में पूर्व में भोपाल भी शामिल था, लेकिन अब भोपाल इनमें नहीं है।