comScore

Share market: सेंसेक्स 692 अंक चढ़ा, निफ्टी 7,800 के पार बंद हुआ


हाईलाइट

  • सेंसेक्स 692.79 अंक या 2.67% बढ़कर 26674.03 पर बंद
  • निफ्टी 190.80 अंक या 2.51% की बढ़त के साथ 7801.05 पर बंद

डिजिटल डेस्क, मुंबई। देश के शेयर बाजार में कारोबारी सप्ताह के दूसरे दिन आज (मंगलवार) को तेजी रही।सेंसेक्स 692.79 अंक या 2.67% बढ़कर 26674.03 पर, जबकि निफ्टी 190.80 अंक या 2.51% की बढ़त के साथ 7801.05 पर बंद हुआ। 927 शेयरों में तेजी, 1310 शेयरों में गिरावट आई है और 145 शेयरों में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

निफ्टी में इंफोसिस, अदानी पोर्ट्स, ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज, बजाज फाइनेंस और एचयूएल में तेजी के साथ कारोबार हुआ। जबकि यस बैंक, एम एंड एम, ग्रासिम, इंडसइंड बैंक और पावर ग्रिड कॉर्प में गिरावट देखने को मिली। रियल्टी को छोड़कर अन्य सभी सेक्टोरल इंडेक्स तेजी के साथ बंद हुए। बीएसई मिडकैप 1.5 फीसदी चढ़ा, जबकि स्मॉलकैप इंडेक्स सपाट होकर बंद हुआ।

इससे पहले सोमवार को कोरोनावायरस के कारण शेयर बाजार में भारी गिरावट देखने को मिली थी। सेंसेक्स 3,934.72 अंक या 13.15 प्रतिशत की गिरावट के साथ 25981.24 पर और निफ्टी 1,135.20 अंक या 12.98 प्रतिशत की गिरावट के साथ 7610.25 पर बंद हुआ था। बाजार अगस्त 2014 के बाद निचले स्तर पर पहुंचा। तेज गिरावट के साथ खुले बाजार में शुरुआती आधे घंटे के अंदर ही लोअर सर्किट लगाना पड़ा। हालांकि, 45 मिनट बाद बाजार में ट्रेडिंग फिर से शुरू हुई तो गिरावट और बढ़ गई। बाजार में 13 मार्च के बाद दूसरी बार लोअर सर्किट लगने की वजह से ट्रेडिंग 45 मिनट रुकी, लेकिन रिकवरी नहीं हो पाई।

क्या है लोअर सर्किट
बता दें कि शेयर बाजार में 10 फीसदी या उससे अधिक की गिरावट आती है, तो उसमें लोअर सर्किट लग जाता है और ट्रेडिंग कुछ देर के ल‍िए रोक दी जाती है। बीते 12 साल में दूसरी बार है, जब शेयर बाजार में ट्रेडिंग रोकी गई है। जबकि इतिहास में 6वीं बार लोअर सर्किट लगा। सेबी ने सर्किट के लिए तीन ट्रिगर लिमिट 10%, 15% और 20% तय की हैं। यानी उस वक्त बाजार जितने पर है, उसका 10%, 15% और 20% घटने-बढ़ने पर सर्किट लगता है। 

दोपहर 1 बजे से पहले शेयर बाजार 10% तक गिरता या चढ़ता है तो ट्रेडिंग 45 मिनट के लिए रोक दी जाती है। अगर 1 बजे के बाद 10% उतार-चढ़ाव होता है तो ट्रेडिंग केवल 15 मिनट के लिए रोकी जाती है। वहीं अगर दोपहर 1 बजे से पहले शेयर बाजार में 15% उतार-चढ़ाव आता है तो ट्रेडिंग 1 घंटे 45 मिनट के लिए कारोबार बंद कर दिया जाता है। अगर कारोबार के दौरान किसी भी वक्त शेयर बाजार में 20% या उससे ज्यादा का उतार-चढ़ाव आता है तो बचे हुए दिन के लिए ट्रेडिंग बंद कर दी जाती है।

कमेंट करें
lpveX