comScore

आंध्र प्रदेश: 24 साल पहले परिवार से बिछड़े शख्स ने भीख मांग कर जुटाए 2 लाख, करना चाहता था ये काम  

आंध्र प्रदेश: 24 साल पहले परिवार से बिछड़े शख्स ने भीख मांग कर जुटाए 2 लाख, करना चाहता था ये काम  

हाईलाइट

  • आंध्र में भिखारी के पास 2 लाख रुपये नकद मिले

डिजिटल डेस्क, अमरावती। आंध्र प्रदेश के कुरनूल जिले में एक भिखारी के पास दो लाख रुपये से अधिक नकदी मिली है। एक गैर-सरकारी संगठन (एनजीओ) के स्वयंसेवकों के माध्यम से यह बात सामने आई है, जब वे उसका हुलिया ठीक कर रहे थे।

चिन्ना नरसिम्हुलु, जो कि धोन शहर में एक मस्जिद के पास भीख मांगता है। उसके पास 2 लाख 4 हजार 459 रुपये मिले। द्रोणाचलम सेवा समिति के सदस्यों ने सोमवार को उसके बाल कटवाकर स्नान कराया और उसे नए कपड़े भी दिए।

समिति के सदस्य ए. मधु के अनुसार इस 58 वर्षीय भिखारी के पास 14 शर्ट की जेब में करेंसी नोटों के बंडल थे। कुल राशि में से 77,000 रुपये की ऐसी करंसी थी, जो नोटबंदी के बाद बंद हो गई है।

एनजीओ ने स्थानीय पुलिस को भिखारी के पास मिले पैसों की जानकारी दी। इंस्पेक्टर सुब्रह्मण्यम ने कहा, उनकी पूछताछ से पता चला है कि चिन्ना नरसिम्हुलु उर्फ सीनू तेलंगाना के पास महबूबनगर में मुनप्पगुट्टा कॉलोनी का मूल निवासी है।उसने पुलिस को बताया कि वह लगभग 24 साल पहले परिवार से बिछड़ गया था। उसकी पत्नी और बेटी जो कि उस समय सिर्फ आठ महीने की थी, काम के लिए बेंगलुरू चली गई थी।

धोन में 16 साल से भीख मांग रहे सीनू ने पुलिस को बताया कि उसने अपनी बेटी के लिए ये पैसे इस उम्मीद में बचाए थे कि वह एक दिन उससे मिलेगी। पुलिस अधिकारी ने उसे कडप्पा में एक वृद्धाश्रम में भेज दिया है और एनजीओ को सीनू के नाम से बैंक खाता खोलने और पैसे जमा करने के लिए कहा है। पुलिस सीनू के परिवार का पता लगाने के लिए अपने महबूबनगर के समकक्षों के साथ भी संपर्क कर रही थी।

कमेंट करें
DIAz8