comScore

CBI ने मप्र सीएम के भतीजे के खिलाफ किया मामला दर्ज, बैंक को करोड़ो की चपत लगाने का आरोप

CBI ने मप्र सीएम के भतीजे के खिलाफ किया मामला दर्ज, बैंक को करोड़ो की चपत लगाने का आरोप

हाईलाइट

  • सीबीआई ने बैंक फ्रॉड केस में रतुल पुरी के खिलाफ मामला दर्ज किया है
  • पुरी पर सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया को 354.51 करोड़ रुपये की चपत लगाने का आरोप है
  • CBI ने छह स्थानों की तलाशी भी ली और कंपनी के वर्तमान व पूर्व अधिकारियों को दबोचा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (सीबीआई) ने मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ के भतीजे और मोसर बेयर के तत्कालीन कार्यकारी निदेशक रतुल पुरी के खिलाफ मामला दर्ज किया है। सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया को 354.51 करोड़ रुपये की चपत लगाने के मामले में ये मामला दर्ज किया गया है। सीबीआई ने छह स्थानों की तलाशी भी ली और कंपनी के वर्तमान व पूर्व अधिकारियों को दबोचा।

जांच एजेंसी के अधिकारी ने बताया कि मोसर बेयर के प्रबंध निदेशक दीपक पुरी, कंपनी में पूर्णकालिक निदेशक उनकी पत्नी नीता पुरी, एमबीआईएल के पूर्व कार्यकारी निदेशक उनके पुत्र रतुल पुरी, निदेशक संजय जैन, विनीत शर्मा और अन्य अज्ञात सरकारी सेवकों व अन्य व्यक्तियों के खिलाफ धोखाधड़ी, जालसाजी और आपराधिक दुर्व्यव्यवहार व आपराधिक साजिश रचने का मामला दर्ज किया है।

अधिकारी ने बताया, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के उप महाप्रबंधक मुरली छेत्री की शिकायत पर उनके खिलाफ शनिवार को मामला दर्ज किया गया। छेत्री ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि आरोपियों ने बैंक के साथ 354.51 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की। नीता पुरी मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ की बहन हैं और रतुल पुरी कमलनाथ के भांजे हैं।

रतुल पुरी अगस्तावेस्टलैंड मामले में भी जांच के घेरे में हैं। रतुल पुरी पर उनकी कंपनी के जरिए कथित तौर पर रिश्वत लेने का आरोप है।

प्रवर्तन निदेशालय का आरोप है कि रतुल पुरी की स्वामित्व वाली कंपनी से जुड़े खातों का उपयोग रिश्वत लेने के लिए किया गया। अगस्तावेस्टलैंड हेलकॉप्टर डील 3,600 करोड़ रुपये के धनशोधन का मामला है।

बता दें कि पिछले महीने रतुल पुरी दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू मार्ग पर MTNL बिल्डिंग में ईडी दफ्तर पूछताछ के लिए पहुंचे थे. उन्हें ईडी ने वीवीआईपी हेलीकॉप्टर घोटाले में पूछताछ के लिए बुलाया था. उनसे कुछ देर पूछताछ चली लेकिन इसी बीच उन्हें अंदेशा हुआ कि ईडी की टीम गिरफ्तार कर लेगी. रतुल ने ईडी दफ्तर में जांच अधिकारी से टॉयलेट जाने की बात कही. वह टॉयलेट गए और फिर वहां से गायब हो गए।

बाद में रतुल पुरी ने दिल्ली के राउस एवेन्यू कोर्ट में अपनी अग्रिम जमानत के लिए अर्जी लगा दी। रतुल की तरफ से कोर्ट में दो जाने माने वकील अभिषेक मनु सिंघवी और विजय अग्रवाल पेश हुए। उन्होंने कहा रतुल पुरी अभी तक 22 बार ईडी के सामने पेश हुए हैं। उनको 23वीं बार बुलाया गया था। उन्हें यात्रा पर जाना था, लेकिन तब भी वे ईडी के सामने पेश हुए।

कमेंट करें
vzM4T