comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

चक्रवात निसर्ग ने महाराष्ट्र में दी दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

June 03rd, 2020 17:00 IST
 चक्रवात निसर्ग ने महाराष्ट्र में दी दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

हाईलाइट

  • चक्रवात निसर्ग ने महाराष्ट्र में दी दस्तक, तेज हवा के साथ भारी बारिश

मुंबई/रायगढ़, 3 जून (आईएएनएस)। चक्रवात निसर्ग ने 72 घंटों के इंतजार के बाद महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के श्रीवर्धन-दिवे आगार में एक प्रचंड दस्तक दी, जिसके साथ ही महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में अफरातफरी मच गई।

रत्नागिरी की कलेक्टर निधि चौधरी ने एक बयान में कहा, तूफान की आंख (केंद्र बिंदु) लगभग 60 किमी दूर है। इसने रायगढ़ जिले में 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दस्तक दी है। अब यह उरण की ओर आगे बढ़ रहा है।

उरण, रायगढ़ के उत्तरी हिस्से में है, जो दक्षिण-मध्य मुंबई से मुश्किल से दो किलोमीटर की दूरी पर है। यहां गगनचुंबी इमारतों के साथ ही झुग्गियां भी हैं और यह इलाका चक्रवात के कारण जोखिम की स्थिति में है।

चक्रवात के दस्तक देने से कई घंटों पहले ही निसर्ग के बुधवार सुबह से 60 से 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार की हवा के साथ आने की घोषणा की गई थी। इसके साथ ही पालघर, ठाणे, मुंबई, रायगढ़, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग के पूरे तटीय इलाके में भारी बारिश की भी घोषणा की गई थी।

तेज तूफान की वजह से जगह-जगह पेड़ उखड़ गए और पूरे कोंकण क्षेत्र में लोगों के घरों की छतें भी हवा में उड़ती नजर आईं। वहीं मुंबई और ठाणे में गिरे पेड़ों के नीचे कई वाहन दब गए।

दक्षिण मुंबई के कोलाबा, चर्चगेट और ठाणे में बड़े और छोटे पेड़ जड़ से उखड़ गए। इसके अलावा शहर के पश्चिमी तट पर गेटवे ऑफ इंडिया, भाऊचा धक्का और गिरगांव चौपाटी, दादर, जुहू, वर्सोवा, मड, मार्वे, गोराई जैसे लोकप्रिय समुद्र तटों पर ऊंची लहरों ने तबाही मचाई।

तेज उठती लहरों और तूफान के बीच रत्नागिरि में मिर्या बीच पर एक मध्यम आकार का समुद्री जहाज फंस गया। हालांकि गनीमत रही कि यहां किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे अन्य मंत्रियों और अधिकारियों के साथ चक्रवात की स्थिति की निगरानी कर रहे हैं, जबकि उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने सभी तटीय जिला कलेक्टरों को फोन किया और उनसे जमीनी रिपोर्ट मांगी।

एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की बचाव टीमों के अलावा सेना, नौसेना, वायुसेना, तटरक्षक, पुलिस, फायर ब्रिगेड और विशेषज्ञ गोताखोर मुंबई में विभिन्न स्थानों पर किसी भी बाढ़ जैसी स्थिति से निपटने के लिए मुस्तैद हैं।

महाराष्ट्र मछुआरा संघ के अध्यक्ष दामोदर तंडेल ने कहा कि पूरे तटीय क्षेत्र में मछुआरों के कई गांवों को तूफान के कारण भारी नुकसान हुआ है।

दामोदर ने आईएएनएस को बताया, ताजा जानकारी के अनुसार, हमारी अधिकांश मछली पकड़ने वाली नौकाओं को पिछले कुछ दिनों से सुरक्षित रूप से लंगर बांध दिया गया था, लेकिन असली नुकसान तूफान के चले जाने के बाद ही पता चलेगा। किसी मछुआरे के हताहत या लापता होने की कोई रिपोर्ट नहीं है।

आईएमडी ने पहले ही रायगढ़, मुंबई, ठाणे, पालघर, नाशिक, धुले और नंदुरबार के लिए रेड अलर्ट घोषित कर दिया है, जो कि चक्रवात के रास्ते में आने वाले क्षेत्र हैं।

रात भर हुई बारिश के कारण मुंबई और ठाणे के कई निचले इलाकों और तटीय क्षेत्रों के अलावा अन्य जिलों में बाढ़ जैसी स्थिति बनी हुई है।

एक अधिकारी ने कहा कि मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड बुधवार को चक्रवात के मद्देनजर निर्धारित 50 दैनिक घरेलू उड़ानों में से केवल 19 का ही संचालन करेगा।

वहीं चक्रवात से बचने के लिए मध्य रेलवे और पश्चिम रेलवे की कई लंबी दूरी की ट्रेनों की समय सारणी में भी बदलाव किया गया है।

कमेंट करें
tDX4U
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।