दैनिक भास्कर हिंदी: वायुसेना प्रमुख धनोआ के घर के सामने लगी राफेल की रेप्लिका, कांग्रेस कार्यालय की तरफ मुंह

May 31st, 2019

हाईलाइट

  • दिल्ली के अकबर रोड पर है धनोआ का घर
  • सितंबर 2019 में भारत को मिलेगी राफेल की पहली खेप
  • सबसे पहले फ्रांस से मिलेंगे 4 राफेल विमान

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ के घर के सामने राफेल एयरक्राफ्ट की रेप्लिका लगाई गई है, जिसका मुंह कांग्रेस कार्यालय की तरफ है। दरअसल, धनोआ का घर 24 अकबर रोड पर कांग्रेस कार्यालय के ठीक सामने है। राफेल के पहले धनोआ के घर के सामने सुखोई का मॉडल लगा हुआ था, जिसे कुछ महीने पहले ही वहां से हटाया गया था।

मोदी सरकार के पिछले कार्यकाल में फ्रांस की सरकार के साथ राफेल विमान की डील की गई थी, जिस पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने घोटाले के आरोप लगाए थे। भारतीय वायुसेना को राफेल विमानों की पहली खेप सितंबर 2019 में मिलेगी, जिसमें 4 लड़ाकू विमान शामिल होंगे। राफेल का पहला एयरक्राफ्ट भारतीय वायुसेना के 'गोल्डन एरो' 17 स्क्वाड्रन में शामिल किया जाएगा।

कारगिल युद्ध के दौरान 1999 में इस यूनिट का प्रतिनिधित्व एयरचीफ मार्शल बीएस धनोआ ने किया था। पहले यह यूनिट पंजाब के बठिंडा में थी, जिसे हरियाणा के अंबाला में स्थानांतरित कर दिया गया। राफेल की पहली खेप भारत लाने से पहले विमानों को 1500 घंटे तक उड़ान भरना होगा, ऐसे में 4 विमानों वाले पहले बैच के मई 2020 तक भारत पहुंचने की संभावना है।

भारत सरकार ने फ्रांस सरकार और दसॉल्ट एविशन के साथ 36 राफेल विमानों का सौदा 2016 में किया था। हरियाणा के अंबाला में स्थित बेस में जगुआर स्क्वाड्रन तैनात है, जिसका जिम्मा पाकिस्तान की तरफ से होने वाली उठापटक पर नजर रखना है। इससे पहले भी एक स्क्वाड्रन को उत्तर प्रदेश के सारस्वत एयरबैस में तैनात करने की तैयारी थी, लेकिन जमीन अधिग्रहण न हो पाने के कारण फैसला रद्द कर दिया गया।

 

 

 

 

 

 

 

 

खबरें और भी हैं...