comScore

बीमा एजेंट व मैनेजर की मिलीभगत से शिक्षक के खाते से निकाले 16 लाख रुपए

September 09th, 2019 13:38 IST
बीमा एजेंट व मैनेजर की मिलीभगत से शिक्षक के खाते से निकाले 16 लाख रुपए

डिजिटल डेस्क छतरपुर । बड़ागांव निवासी एक शिक्षक के साथ धोखाधड़ी किए जाने का मामला सामने आया है। पीडि़त शिक्षक मिहीलाल अहिरवार की जिंदगी भर की जमा पूंजी फर्जी तरीके से बैंक से निकाल ली गई। पीडि़त शिक्षक मिहीलाल का कहना है कि एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस कंपनी के एजेंट शिवकुमार वर्मा ने बैंक मैनेजर के साथ मिलकर उनके खाते से 16 लाख रुपए निकाल लिए। शिक्षक का कहना है कि वर्ष 2018 में जब वे रिटायर हुए तो जीपीएफ, ग्रेज्युटी, एरियर्स सहित अन्य फंड का भुगतान शासन से प्राप्त हुआ। तभी एजेंट पालिसी लेने के लिए दबाव बनाने लगा। एजेंट की बातों में आकर मिहीलाल दो नातियों के नाम पर पालिसी लेने को तैयार हो गए। पालिसी के पैसे जमा करने के नाम पर एजेंट ने विड्रावल फार्म में दस्तखत कराकर अलग- अलग समय पर 16 लाख रुपए निकाल लिए।
क्या है मामला
दरसल मिहीलाल अहिरवार जब रिटायर हुए उस समय उनके संपर्क में एजेंट शिवकुमार विश्वकार्मा आया। और उसने एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस का एजेंट बताते हुए पालिसी लेने के लिए कहा और जबरन दो पालिसी थमा दी और पालिसी का पैसा जका करने के लिए बैंक के विड्रावल फार्म में मिहीलाल के दस्तखत कराकर मिहीलाल के नौगांव एसबीआई बैक खाते से अलग- अलग समय पर कुल 16 लाख रुपए निकाल लिए। बैंक खाते से पैसे निकाले जाने की जानकारी मिहीलाल को तब लगी, जब वे बैंक पासबुक में इंट्री कराने के लिए गए तो पता चला खाते से 16 लाख रुपए निकाल लिए गए हैं।
दो बार निकाले रुपए पीडि़त शिक्षक ने बताया कि एजेंट ने उनके बैंक खाते से 14 मई 2019 को चार लाख, फिर 14 अगस्त को चार लाख रुपए खाते से एजेंट ने ट्रांसफर करा लिया। शिक्षक का कहना है कि कुल 16 लाख रुपए एजेंट द्वारा अलग- अलग तरीकों से निकाले गए हैं। बीमा पालिसी के फार्म में दस्तखत कराने के दौरान ही एजेंट ने धोखे से विड्रावल फार्म में दस्तखत करा लिया और पैसे निकाल लिए गए।
इनका कहना है
बैंक खाते से फर्जी तरीके से पैसे निकाले जाने की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को है। यदि कोई जांच अधिकारी खातेदार की जानकारी मांगता है तो उसे उपलब्ध करा दिया जाएगा। यह पूरा मामला मेरे कार्यकाल का नहीं है।
- मुकेश पाठक, मैनेजर एसबीआई 
शिक्षक द्वारा आवेदन दिया गया है। जिसकी जांच कराई जा रही है। जांच में जो बातें सामने आएंगी। उसके बाद दोषियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी।
 - राकेश साहू, टीआई नौगांव
एजेंट ने अपने खाते में ट्रांसफर कराए पैसे
खाते से 16 लाख रुपए निकाले जाने की बैंक डिटेल जब मिहीलाल ने निकलवाई तो पता चला मिलीलाल के बैंक खाते से एजेंट शिवकुमार ने पैसे अपने बैंक खाते में ट्रांसफर करवाया है। पैसे ट्रांसफर करवाने के बाद एजेंट ने अपने बैंक खाते को बंद भी करवा दिया है। हालांकि उसने मिही लाल को चेक भी जारी किए, लेकिन ये फर्जी निकले।
 

कमेंट करें
BCkMo