comScore

अमेजन बनी दुनिया की सबसे ज्यादा वैल्यूएशन वाली कंपनी, माइक्रोसॉफ्ट को पछाड़ा

January 09th, 2019 09:51 IST
अमेजन बनी दुनिया की सबसे ज्यादा वैल्यूएशन वाली कंपनी, माइक्रोसॉफ्ट को पछाड़ा

हाईलाइट

  • ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन दुनिया की सबसे ज्यादा वैल्यूएशन वाली कंपनी बन गई है।
  • माइक्रोसॉफ्ट को पछाड़ते हुए अमेजन ने ये मुकाम हासिल किया है।
  • अमेजन का मार्केट कैप 56 लाख करोड़ रुपए (796.8 अरब डॉलर) पर पहुंच गया है।

डिजिटल डेस्क, वॉशिंगटन। ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन दुनिया की सबसे ज्यादा वैल्यूएशन वाली कंपनी बन गई है। माइक्रोसॉफ्ट को पछाड़ते हुए अमेजन ने ये मुकाम हासिल किया है। तीसरे नंबर पर अल्फाबेट और चौथे पर एपल है। अमेजन का मार्केट कैप 56 लाख करोड़ रुपए (796.8 अरब डॉलर) पर पहुंच गया है। जबकि माइक्रोसॉफ्ट का मार्केट कैप 54.81 लाख करोड़ रुपए (783.4 अरब डॉलर) है। सोमवार को अमेजन के शेयर में 3.4% की आई तेजी के कारण अमेजन दुनिया की सबसे ज्यादा वैल्यूएशन वाली कंपनी बनी है।

बता दें कि मुख्य कार्यकारी अधिकारी जेफ बेजोस के नेतृत्व में, अमेजन ने जबरदस्त वृद्धि देखी है। 15 मई 1997 को 18 डॉलर पर अमेजन के शेयर की लिस्टिंग हुई थी जो अब 1,629.51 डॉलर है। 30 अगस्त 2018 को अमेजन का शेयर पहली बार 2,000 डॉलर के पार पहुंचा था।10 महीने पहले शेयर की कीमत करीब 1000 डॉलर थी। 27 अक्टूबर, 2017 को यह पहली बार 1,000 डॉलर पर पहुंचा था। वहीं 23 अक्टूबर, 2009 को पहली बार अमेजन के शेयर ने 100 डॉलर के स्तर को छुआ था।

अमेजन ने लोगों के शॉपिंग के तरीके में क्रांतिकारी बदलाव किया है। दो दशकों पहले अमेजन के फाउंडर और सीईओ जेफ बेजोस ने बुकसेलर के तौर पर अपने बिजनेस की शुरुआत की थी। लेकिन अब ये दुनिया का प्रमुख इंटरनेट खुदरा विक्रेता है। इसके अलावा अमेजन टेलिविजन स्ट्रीमिंग, पेमेंट बैंक के क्षेत्र में भी काम करता है। ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स में 166 अरब डॉलर नेटवर्थ के साथ बेजोस नंबर-1 हैं। शेयर में तेजी से साल 2018 में उनकी दौलत में करीब 66.5 अरब डॉलर का इजाफा हुआ है।

2018 में अमेजन ने एक ट्रिलियन डॉलर मार्केट कैप वाली दूसरी अमेरिकी और दुनिया की तीसरी कंपनी बनने का भी मुकाम हासिल किया था। अमेजन का शेयर 2050.50 डॉलर पर पहुंच गया था। हालांकि, दिन का कारोबार खत्म होने पर इसका मार्केट कैप एक ट्रिलियन से थोड़ा नीचे आ गया था। इससे पहले दो अगस्त 2018 को एप्पल 1 ट्रिलियन डॉलर वाली पहली अमेरिकी कंपनी बनी थी। एपल को 1 ट्रिलियन डॉलर के माइलस्टोन तक पहुंचने में करीब 38 साल लगे थे। वहीं, अमेज़न ने सिर्फ 21 सालों में ये कर दिखाया है।  

कमेंट करें
WQL5A