comScore

जैक मा ने छोड़ा अलीबाबा का चेयरमैन पद, ऐसे हुई थी कंपनी की शुरुआत

जैक मा ने छोड़ा अलीबाबा का चेयरमैन पद, ऐसे हुई थी कंपनी की शुरुआत

हाईलाइट

  • अलीबाबा दुनिया की 59वीं सबसे बड़ी कंपनी है
  • मिस्टर इंटरनेट के नाम से मशहूर हुए थे जैक मा
  • टीचर के बाद करोड़ों का साम्राज्‍य खड़ा किया

डिजिटल डेस्क, शंघाई। चीन की ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा समूह के संस्थापक जैक मा ने मंगलवार को चेयरमैन पद छोड़ दिया। जैक मा ने अपने 55वें जन्मदिन पर यह पद छोड़ा, हालांकि वे अलीबाबा पार्टनरशिप के सदस्य बने रहेंगे। आपको बता दें कि फोर्ब्स की सूची के अनुसार अलीबाबा 480 अरब डॉलर के मार्केट कैपिटलाइजेशन के साथ दुनिया की 59वीं सबसे बड़ी कंपनी है।

जैक मा की संपत्ति 41 अरब डॉलर है। उनकी योजना अपनी अकूत संपत्ति को शिक्षा पर खर्च करने की है। जैक मां का शिक्षा से लगाव इसलिए भी रहा है क्योंकि उन्होंने वह भी एक समय में शिक्षक रह चुके हैं। जैक ने एक गरीब टीचर से करोड़ों का साम्राज्‍य खड़ा करने का सफर तय किया है। 

रिटेलिंग और सेवा क्षेत्र
आमतौर पर बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनियों को करिश्माई संस्थापकों के चले जाने के बाद शेयर कीमतों में उतार-चढ़ाव और दिक्कतों का सामना करना पड़ता है, लेकिन अलीबाबा के साथ ऐसा नहीं है। आपको बता दें कि अलीबाबा की स्थापना ऐसे समय में हुई थी, जब चीन में इंटरनेट का इस्तेमाल करने वालों की संख्या नगण्य थी। जैसे जैसे इंटरनेट का उपयोग बढ़ा, कंपनी ने अपना विस्तार उपभोक्ता आधारित रिटेलिंग और सेवा क्षेत्र में किया।  

ऐसे हुई शुरुआत
जैक मा के पास कंप्यूटर साइंस की भी कोई पृष्ठभूमि नहीं रही। बचपन में कभी उन्होंने कंप्यूटर इस्तेमाल नहीं किया। गणित के पेपर में एक बार उन्हें 120 में से केवल एक अंक मिला। 1980 में वह अपने शहर में एक स्कूल टीचर की नौकरी करने लगे। जब जैक मा के शहर में KFC ने अपनी ब्रांच खोली तो उन्‍होंने उसके लिए भी अप्लाई किया पर वहां से भी रिजेक्ट हो गए। 

जैक मा ने नौकरी को छोड़ अनुवाद करने वाली एक कंपनी खोली। वहीं जब 1994 में वह अपने बिजनेस के सिलसिले में अमेरिका गए थे, तो वहां इंटरनेट देखकर काफी प्रभावित हुए। इंटरनेट के प्रति रुझान की वजह से वह चीन में 'मिस्टर इंटरनेट' के नाम से मशहूर हो गए। करीब 30 नौकरी से रिजेक्शन के बाद जैक मा ने अलीबाबा की शुरुआत की। आज जैक मा एशिया के सबसे रईस आदमी हैं। फोर्ब्स के मुताबिक उनकी कुल पूंजी 2.43 लाख करोड़ रुपए है।

कमेंट करें
V3mRG