comScore
Dainik Bhaskar Hindi

जान देने पर आमादा थी की युवती ,जीआरपी-आरपीएफ ने बचाया

BhaskarHindi.com | Last Modified - March 13th, 2019 16:18 IST

1.2k
0
0
जान देने पर आमादा थी की युवती ,जीआरपी-आरपीएफ ने बचाया

 डिजिटल डेस्क,सतना। दोपहर को मैहर रेलवे स्टेशन के कटनी छोर पर मालगाड़ी के सामने कूदने जा रही युवती को पुलिस ने समय रहते बचा लिया, जिसे पूछताछ के बाद वन स्टाप सेंटर कटनी भेज दिया गया। जीआरपी से मिली जानकारी के मुताबिक दोपहर करीब साढ़े 12 बजे यार्ड से एक मालगाड़ी कटनी की तरफ रवाना हो रही थी, तभी अज्ञात युवती पटरी के बीच में खड़ी हो गई। यह देखकर प्लेटफार्म के कटनी छोर पर खड़े लोगों ने शोर मचाते हुए आरपीएफ और जीआरपी को सूचित किया तो पुलिसकर्मी आनन-फानन मौके पर पहुंचकर युवती को हटाने में जुट गए, पर वह कुछ सुनने को तैयार नहीं थी। ऐसे में महिला यात्रियों की मदद से उसे खींचकर रेलवे ट्रैक से दूर किया गया, तब जाकर सभी ने राहत की सांस ली।
पश्चिम बंगाल से आई मैहर
पूछताछ में युवती ने अपना नाम शकीला परवीन पुत्री अब्दुल जब्बार उर्फ जफर अली और मां का नाम आसमा बीवी निवासी पुरातुन-जलालपुर थाना चंचल जिला मालदा, पश्चिम बंगाल बताया। उसकी मानसिक स्थिति भी ठीक नहीं है, कुछ समय पूर्व ही पति ने उसे तलाक दे दिया था जिससे नाराज होकर शकीला घर से निकल गई और भटकते हुए ट्रेन में सवार होकर मैहर पहुंच गई। यहां भी 2 दिन से घूम रही थी, मंगलवार को हताश होकर जान देने के इरादे से रेलवे स्टेशन आ गई पर वहां यात्री और पुलिसकर्मियों ने उसे आत्महत्या करने से रोक लिया।
भेजा गया कटनी
मैहर चौकी का थाना क्षेत्र कटनी होने के चलते युवती को वहां ले जाया गया, साथ ही पश्चिम बंगाल पुलिस के जरिए परिजन से संपर्क करने के प्रयास भी शुरू कर दिए गए हंै। इस पूरे घटनाक्रम में यह बात भी सामने आई कि मैहर स्टेशन पर आरपीएफ और जीआरपी चौकियों में एक भी महिला पुलिसकर्मी तैनात नहीं है जिसके चलते शकीला को आत्महत्या करने से रोकने के लिए पुलिस बल को यात्रियों की मदद लेनी पड़ी।

 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें
Survey

app-download