comScore

उत्तर प्रदेश में आंधी तूफान ने कहर ढाया, बिजली की चपेट में आने से 17 की मौत

उत्तर प्रदेश में आंधी तूफान ने कहर ढाया, बिजली की चपेट में आने से 17 की मौत

डिजिटल डेस्क, उप्र। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में अचानक हुए मौसम में बदलाव के बाद आंधी और ओलों ने कहर बरपाया। इस दौरान आकाशीय बिजली की चपेट में आने से 17 लोगों की मौत हो गई। सबसे अधिक कहर ब्रज क्षेत्र में बरपाया, जानकारी के अनुसार कासगंज, एटा और मैनपुरी में 11 लोगों की मौत हो गई। वहीं रामपुर, मैनाठेर, बदायूं और पीलीभीत में एक-एक और काशीपुर में दो लोगों की मौत हुई है। 

उत्तर प्रदेश के एटा और कासगंज में गुरुवार शाम आंधी और तूफान ने जमकर कहर ढाया। इस दौरान दीवार और पेड़ गिरने से एटा में तीन लोगों की मौत हो गई जबकि कासगंज में भी तीन लोगों की मौत हो गई। इन हादसों में एक महिला और एक युवक गंभीर रूप से घायल है। घायलों की हालत गंभीर होने के चलते उन्हें अलीगढ़ रेफर किया गया।  

आंधी तूफान में ऐसे हुई मौत
मैनपुरी में बिजली गिरने से चार की मौत हो गई। वहीं ग्राम लुखरपुरा में बिजली गिरने से एक मकान की दीवार ढह गई। इसकी चपेट में आकर हिमांशु, माया देवी की मौत हो गई। वहीं कुरावली के ही ग्राम नगला छद्दिू में बिजली की चपेट में आकर कृष्णकांत की मौत हो गई। गांव में ही किरन की बिजली गिरने से मौत हो गई। जबकि बिछवा क्षेत्र के ग्राम जगतपुर निवासी राजेश की पेड़ गिरने से मौत हो गई। इसी तरह गांव बरा सूरजपुर में सुनैना की छज्जा गिरने से मौत हो गई। 

कासगंज के विदौनी में लालाराम की पेड़ गिरने से मौत हो गई। जबकि गांव के ही दरियाब सिंह की दीवार गिरने से दबकर मौत हो गई। फतेहपुर कलां में गेट गिरने भगवान की मौत हो गई।  एटा के थाना बागवाला क्षेत्र के नगला भम्भा निवासी दिनेश की बिजली गिरने से मौत हो गई। गांव धरमपुर में दीवार गिरने से मेघा की मौत हो गई।  

गांव अजीतपुर नईबस्ती में घर गिरने से सुगरा की मौत हो गई। मैनाठेर के महमूदपुर माफी गांव में किसान की बिजली गिरने से मौत हो गई। बदायूं में बिजली गिरने से एक छात्र की मौत हो गई तो पीलीभीत में छप्पर गिरने से किसान की जान चली गई। काशीपुर में दीवार गिरने से दो लोगों की मौत हो गई।    

मुख्यमंत्री योगी ने दिए ये निर्देश
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मैनपुरी, कासगंज, एटा ,फिरोजाबाद आदि जिलों में गुरुवार को आए आंधी-तूफान में प्रभावित लोगों को तत्काल राहत पहुंचाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि संकट की इस घड़ी में राज्य सरकार उनके साथ है और प्रभावितों की हर सम्भव मदद की जाएगी। जारी निर्देशों में प्रभावित जिलों के जिलाधिकारियों को कहा है कि आंधी-तूफान से जन हानि, पशु हानि एवं मकान क्षति से प्रभावित लोगों को 24 घण्टे के भीतर सहायता राशि उपलब्ध करा दी जाए। 

उन्हाेंने राज्य आपदा मोचक निधि के दिशा-निर्देशों के अनुरूप पीड़ितों को वित्तीय मदद उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इस दैवीय आपदा के प्रत्येक मृतक के आश्रितों को चार-चार लाख रुपए की सहायता राशि तत्काल वितरित की जाए।
 

कमेंट करें
LWD7O