दैनिक भास्कर हिंदी: नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश , 2 गिरफ्तार

December 17th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। बेलतरोड़ी थाना क्षेत्र में एक युवक को पावरग्रिड में इंजीनियर की नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश हुआ है। इस गिरोह के दो सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। गिरफ्तार आरोपियों के नाम हिमानी भगनानी और अक्षय अग्रवाल है। पुलिस ने दोनों आरोपियों को बुधवार को न्यायालय में पेश किया। न्यायालय ने दोनों आरोपियों को 19 दिसंबर तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। इस गिरोह में शामिल  फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है।

पुलिस सूत्रों के अनुसार 389, भीम नगर वार्ड क्रमांक 4, खापरखेड़ा, नागपुर निवासी निखिल महेंद्र सहारे (24) ने बेलतरोड़ी थाने में धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज कराई है। निखिल ने पुलिस को बताया कि आरोपियों ने अप्रैल 2018 से 15 दिसंबर 2020 के दरमियान उसे पावरग्रिड में इंजीनियर की नौकरी दिलाने के नाम पर 9 लाख  50 हजार रुपए लिए। आरोपियों ने उसे कोई नौकरी नहीं दिलाई। तब निखिल ने आरोपियों से पैसे वापस मांगे। आरोपियों ने उसे 1 लाख रुपए वापस किया। बाकी रकम वापस देने के लिए टालमटोल करने लगे।

एक साल पहले कंपनी का कार्यालय बंद
निखिल ने पुलिस को बताया कि आरोपी अक्षय अशोक अग्रवाल (30) रचित अपार्टमेंट, नागपुर,  वाय. वी. एस. श्यामसुंदर,  हिमानी भगनानी, नैना चेलवानी और गौरव क्षीरसागर बेलतरोड़ी क्षेत्र में वर्ष 2018 में रक्षक अपार्टमेंट में किराए से फ्लैट लेकर क्रेस्ट टेक्नाेलॉजी नामक कंपनी शुरू की। अक्षय अग्रवाल मुलत: रायपुर का रहने वाला है। सभी आरोपियों उक्त कंपनी के नाम से समाचार पत्रों में नौकरी दिलाने का विज्ञापन दिया करते थे। यह विज्ञापन देखकर निखिल उनके कार्यालय में गया था। उस समय कार्यालय में उक्त सभी आरोपी मौजूद थे।

आरोपियों ने निखिल को पावरग्रिड में नौकरी दिलाने का वादा किया। इतना ही नहीं, आरोपियों ने निखिल को पूरा भरोसा दिलाया कि वह उसे पावरग्रिड में नौकरी दिला सकते हैं। आरोपियों ने निखिल के शैक्षणिक दस्तावेज व 9 लाख 50 हजार रुपए लिए। रुपए लेने के बाद आरोपियों ने निखिल को नौकरी नहीं दिलाई। तब निखिल ने इस घटना की शिकायत पुलिस थाने में की। एक वर्ष पहले आरोपियों ने कार्यालय बंद कर दिया और वहां से गायब हो गए। निखिल की शिकायत पर बेलतरोड़ी थाने के हवलदार बडोदेकर ने धारा 420, 406, 34 के तहत मामला दर्ज किया। पुलिस ने मामले की छानबीन करते हुए आरोपी हिमानी भगनानी और अक्षय अग्रवाल को गिरफ्तार किया है।