comScore

आगरा: पैदल घर जा रहे एक प्रवासी मजदूर की 200 किलोमीटर चलने के बाद मौत

आगरा: पैदल घर जा रहे एक प्रवासी मजदूर की 200 किलोमीटर चलने के बाद मौत

डिजिटल डेस्क, आगरा। दिल्ली से आगरा तक 200 किलोमीटर पैदल चलने के बाद एक 39 वर्षीय प्रवासी श्रमिक रणवीर सिंह की मौत हो गई। पीड़ित अपने घर मध्य प्रदेश में मुरैना के बडफरा जा रहा था। आगरा से मुरैना की दूरी लगभग 85 किलोमीटर है। पीड़ित तीन बच्चों का पिता था और वह राष्ट्रीय राजधानी में एक निजी रेस्तरां के लिए होम डिलीवरी सेवा में काम करता था। बता दें कि पूरे देश में 21 दिनों का लॉकडाउन है और इसी कारण से सभी ट्रासपोर्ट सेवाएं पूरी तरह से ठप है। 

सीने में दर्द की शिकायत के बाद मौत
पुलिस के मुताबिक, पीड़ित राष्ट्रीय राजमार्ग-2 पर कैलाश मोड़ के पास गिर गया, जिसके बाद एक स्थानीय दुकानदार ने उसकी मदद की। उन्होंने पीड़ित को एक कालीन पर लिटा दिया और चाय और बिस्किट के लिए पूछा। पीड़ित ने सीने में दर्द की शिकायत की और अपने जीजा को फोन कर अपने स्वास्थ के बारे में बताया। करीब 06:30 बजे पीड़ित की मौत हो गई और इसके बाद स्थानीय पुलिस को सूचित किया गया।

ऑटोप्सी रिपोर्ट में हार्ट अटैक की पुष्टि
हरिपर्वत सर्कल अधिकारी सौरभ दीक्षित ने कहा, 'ऑटोप्सी रिपोर्ट में रणवीर सिंह की मौत का कारण हार्ट अटैक बताया गया है। थकावट की वजह से उन्हें दिल का दौरा पड़ा होगा।' एसएचओ कुमार ने भी कहा 'यह संभावना है कि थकावट की वजह से उन्हें छाती में दर्द हुआ होगा। पूरे राष्ट्रीय राजमार्ग-2 पर, यूपी पुलिसकर्मी ऐसे यात्रियों के लिए भोजन के पैकेट और पानी के साथ मौजूद थे, लेकिन रणवीर की मौत एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है।'

तीन साल से दिल्ली में काम कर रहा था रणवीर
पीड़ित के छोटे भाई, सोनू सिंह ने कहा, 'रणवीर दिल्ली के तुगलकाबाद में पिछले तीन वर्षों से काम कर रहा था। वह दो बेटियों सहित तीन बच्चों के पिता था। हम गरीब किसान हैं और यह नहीं जानते कि उनके बच्चे अब कैसे गुजारा करेंगे।' रणवीर के भाई ने कहा, 'उन्होंने (रणवीर ने) गुरुवार को अपनी कठिन यात्रा शुरू करने से पहले हमें फोन किया था और कहा कि कोई सार्वजनिक परिवहन उपलब्ध नहीं है। कमाई का कोई स्रोत न होने के कारण, वह घर वापस आना चाहता था।'

कमेंट करें
cgZ8D