comScore

मानव तस्करी के फरार आरोपियों को ढूंढने राजस्थान रवाना हुई पुलिस

मानव तस्करी के फरार आरोपियों को ढूंढने राजस्थान रवाना हुई पुलिस

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। अधारताल पुलिस द्वारा पकड़े गए गिरोह ने बड़ी संख्या में किशोरियों एवं युवतियों को बेचा है। पकड़े गए चार आरोपियों को पुलिस ने रिमांड पर लेकर पूछताछ की, तो उन्होंने यह स्वीकार किया है कि उन्होंने बड़ी संख्या में किशोरियों एवं युवतियों को बेचा है, लेकिन उसका रिकॉर्ड नहीं है। आरोपी सुनीता यादव के साथ निखिल यादव, शैंकी एवं आनंद को पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायायल में पेश किया था। वहां से इन सभी आरोपियों को रिमांड पर लिया गया है। इन आरोपियों ने जानकारी दी है कि उन्होंने जिस 19 साल की युवती को राजस्थान में ले जाकर बेचा था उसे ब्यूटी पार्लर की आड़ में फंसाया था। इसके अलावा कई नबालिंग लड़कियों को नौकरी व अच्छी जगह पर शादी का लालच देकर भी फंसाया था। इस काम में सुनीता ही पहल करती थी। पुलिस ने सभी थाना प्रभारियों को निर्देश दिये हैं कि गायब किशोरियों एवं युवतियों की फोटो लाकर आरोपियों को दिखाई जाये ताकि यह पता लगाया जा सके कि उनके द्वारा कितनी किशोरियों को बेचा गया है। पुलिस को उम्मीद है कि अनेक किशोरियों के गायब होने का राज इन आरोपियों से खुल जायेगा। 
 

आरोपियों की तलाश तेज 
चार आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद युवती की खरीद फरोख्त में शामिल तीन और आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। इनमें राजस्थान के बाराँ में रहने वाला गोलू उर्फ राजेन्द्र विजयवर्गीय मुख्य रूप से शामिल है। गोलू ने ही अधारताल की युवती को दो लाख रुपये में खरीदा था। इनके अलावा मानव तस्करी से जुड़े कोटा निवासी नंदकिशोर एवं राजस्थान का ही एक अन्य युवक शामिल है, जिसके नाम का खुलासा अभी नहीं हो पाया है। एएसपी राजेश त्रिपाठी के अनुसार आरोपियों की तलाश के लिए सोमवार की रात एक टीम राजस्थान के कोटा शहर के लिए रवाना कर दी गई है।
 

कमेंट करें
oD7tC