दैनिक भास्कर हिंदी:  रेड अलर्ट:  नागपुर के 8 इलाकों को ब्लैक लिस्ट में डाले जाने की अफवाह

March 31st, 2020

डिजिटल  डेस्क,नागपुर। सोशल मीडिया पर फर्जी और समाज में अशांति फैलाने के उद्देश्य से सोशल मीडिया पर अज्ञात आरोपी ने नागपुर के 8 इलाकों को ब्लैक लिस्ट में डाले जाने की खबर फैला दी। इस मामले में पुलिस कंट्रोल रुम के पुलिस निरीक्षक बागुल की शिकायत पर सदर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। इसके पहले भी सदर थाने में तीन आरोपियों के खिलाफ इसी तरीके से सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने का मामला दर्ज किया गया है। इन आरोपियों का 30 मार्च को पुलिस रिमांड समाप्त होने पर उन्हें सेंट्रल जेल भेज दिया गया है। आरोपियों के नाम अमित पारधी, जय गुप्ता और मिश्रा है। इन आरोपियों ने फर्जी आडियो को सोशल मीडिया पर वायरल किया था। इन आरोपियों ने कोरोना वायरस के बारे में गलत अफवाह फैलाई थी। यह सदर थाने में अफवाह फैलानेवाला दूसरा प्रकरण दर्ज किया गया है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सोशल मीडिया पर एक खबर वायरल हो रही थी, जिसमें लिखा गया था कि मोमिनपुरा, शांतिनगर, पीली नदी, जाफर नगर, गांधीबाग, ताजबाग, कामठी और हसनबाग सहित अन्य इलाकों को लेकर रेड अलर्ट जारी कर इन्हें ब्लैक लिस्ट में डाल दिया गया है, जबकि ऐसा कुछ भी नहीं है। इन सभी इलाकों में पुलिस का बंदोबस्त शुरू है। धर्मगुरु भी नागरिकों से घरों में रहने की अपील कर रहे हैं। इस तरह की अफवाह फैलाने वाले अज्ञात आरोपी के खिलाफ सदर पुलिस ने धारा 188, 506 (1) (ब) व आपत्ति व्यवस्थापन कानून की धारा 54 के अनुसार मामला दर्ज किया है।

वाट्सएप पर डीपी डाल
इस अफवाह के सोशल मीडिया पर फैलते ही कुछ युवकों ने इसे अपने वाटसएप की डीपी पर डाला दिया था, जब उन्हें सच पता चला कि इस प्रकरण को लेकर सदर पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है, तब उन युवकों ने इसे अपने वाटसएप की डीपी से हटा दिया। इस अफवाह फैलानेवाले संदेश को एक जागरुक नागरिक ने पुलिस नियंत्रण कक्ष के वाटसएप ग्रुप पर डाला तब कंट्रोल रुम के पुलिस निरीक्षक अशोक बागुल ने इस मामले की शिकायत सदर थाने में दर्ज कराई। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

मिलेटरी फोर्स बुलाए जाने और लाठीचार्ज के आदेश का जिक्र
अफवाह फैलानेवाले अज्ञात आरोपी ने संदेश को वायरल करते समय इस बात का जिक्र किया था कि जिन इलाकों को ब्लैक लिस्ट में डाला गया है। ये इलाके पुलिस कंट्रोल के बाहर है, इसलिए मिल्ट्री फोर्स  को बुलाया है और मिल्ट्री फोर्स इन इलाकों की निगरानी सख्ती से करेगी। इतना ही नहीं उस अफवाह में यह बात भी लिखी गई थी कि लाठी चार्ज  के साथ रबर बुलेट फायर होंगे, इसलिए घर से निकलना और इधर- उधर भटकना बंद करें। इस तरह का मैसेज सोशल मीडिया पर काफी तेज गति से फैल रहा था

फेक संदेश था, इसे वायरल करनेवाले पर मामला दर्ज
यह फेक संदेश था, जिसे सोशल मीडिया पर वायरल किया गया था। नागपुर की जनता खुद समझदार है। यह किसी नागरिक की समझदारी का सबूत है कि उसने पुलिस नियंत्रण कक्ष के वाटसएप नंबर पर उस फेक संदेश को भेजा। उसके बाद पुलिस नियंत्रण कक्ष के पुलिस निरीक्षक अशोक बागुल की शिकायत पर सदर थाने में अज्ञात आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज करने का आदेश दिया गया है। थाने में मामला दर्ज हो चुका है।

- डॉ भूषण कुमार उपाध्याय, पुलिस आयुक्त, नागपुर, शहर

 

खबरें और भी हैं...