गुटबाजी: इटकेलवार को उद्धव ने हटाया, तो मानमोड़े से कार्यकर्ता ने की हुज्जत

July 25th, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  शिवसेना में गुटबाजी की हलचल तेज हो गई है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे का समर्थन कर रहे संदीप इटकेलवार को जिला प्रमुख पद से हटा दिया गया है। उद्धव ठाकरे के निर्देश पर इटकेलवार को शिवसेना से बर्खास्त किया गया है। वहीं, शहर में सदस्यता  कार्य को बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। लेकिन उसमें भी मतभेद सामने आने लगे हैं। ऐसे ही दौर में महानगर प्रमुख प्रमोद मानमोडे को उपजिला प्रमुख स्तर पर पदाधिकारी से हुज्जत का सामना करना पड़ा।

इटकेलवार का मामला : जिला ग्रामीण शिवसेना के प्रमुख संदीप इटकेलवार को कुछ समय पहले ही शिवसेना कोटे से नागपुर सुधार प्रन्यास का विश्वस्त नियुक्त किया गया है। इटकेलवार, रामटेक के सांसद कृपाल तुमाने के समर्थक हैं। 12 सांसदों के साथ शिंदे गुट में शामिल होने के बाद तुमाने पहली बार शहर में लौटे तो उनके स्वागत में इटकेलवार आगे रहे। लिहाजा उद्धव ठाकरे ने उन्हें तत्काल शिवसेना से बर्खास्त कर दिया है। तुमाने के समर्थन में जाने वाले अन्य पदाधिकारियों पर भी जल्द कार्रवाई करने के संकेत दिए जा रहे हैं। आशीष जैस्वाल के समर्थक बंडू तलवेकर व ओमी यादव जैसे पदाधिकारियों को लेकर भी कार्रवाई की तैयारी के संकेत हैं। 

मुंबई के पदाधिकारियों के सामने विरोध : रविवार को रविभवन में शिवसेना की सदस्यता कार्यक्रम संबंधी विशेष बैठक चल रही थी। बैठक में मुंबई के पदाधिकारियों के अलावा महानगर प्रमुख प्रमोद मानमोड़े, किशोर कुमेरिया, शहर प्रमुख दीपक कापसे व अन्य उपस्थित थे। शिवसेना सूत्र के अनुसार, मनोज साहू नामक पदाधिकारी ने जगदीप पेंडके नामक पदाधिकारी को लेकर कुछ सवाल उठाए। मनोज, शिवसेना के उपजिला प्रमुख हैं। मानमोड़े ने मनोज को संगठन अनुशासन की समझाइस देने का प्रयास किया। तब मनोज, मानमोड़े को लेकर ही भड़क सा गया। शिवसेना पदाधिकारी टिंकू दिगवा ने मनोज को समझाइस देकर बैठक से बाहर किया।