comScore

पेंच प्रकल्प का जलस्तर अधिक बारिश से और बढ़ेगा, गेट खोलने की चेतावनी

पेंच प्रकल्प का जलस्तर अधिक बारिश से और बढ़ेगा, गेट खोलने की चेतावनी

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  उपविभागीय अभियंता पेंच सिंचाई उपविभाग कार्यालय, पारशिवनी ने उपविभागीय राजस्व अधिकारी, रामटेक को एक सूचना पत्र लिखकर नवेगांव खैरी प्रकल्प के गेट खोले जाने की पूर्व सूचना दी है। 6 अगस्त को लिखे पत्र में उपविभागीय अभियंता, पेंच सिंचाई, पारशिवनी ने कहा है कि तोतलाडोह में 87 प्रतिशत और पेंच में 81 प्रतिशत पानी का भंडार है। पेंच प्रकल्प में जलस्तर बढ़ रहा है। आगे अच्छी बारिश हुई तो 2-4 दिनों में प्रकल्प के गेट खोलने की संभावना है। ऐसी स्थिति में पेंच नदी में पानी का स्तर बढ़ सकता है। इसलिए नवेगांव खैरी प्रकल्प के निचले हिस्से के गांवों, किसानों, मछुआरों, नदी के किनारे स्थित खेती को खतरा है। इस बाबत संबंधित लोगों को सचेत कर देने का अनुरोध किया गया है

पिछले साल जलभंडारण शून्य था
पिछले वर्ष तोतलाडोह में 14 अगस्त  तक डेड स्टाॅक यानी शून्य प्रतिशत जल भंडारण था। इसके चलते नागपुर शहर की जलापूर्ति में परेशानी आई थी। इसके बाद मध्य प्रदेश के चौरई बांध के कैचमेंट एरिया में हुई मूसलाधार बारिश के बाद लबालब भरे चौरई के गेट खोलने पड़े। पिछले वर्ष 11 सितंबर को तोतलाडोह का जलस्तर 91 प्रतिशत पर जाते ही उसके सभी 14 गेट खोलने पड़े थे। इसके बाद नागपुर की जलसमस्या खत्म हो गई थी। किसानों ने राहत की सांस ली थी।  चौरई के पानी से तोतलाडोह के गेट खुले और पेंच भी लबालब हो गया। उसके गेट खोलकर पानी पेंच नदी में छोड़ा गया था। इस वर्ष भी कुछ ऐसी ही स्थिति बन रही है। अभी अगस्त के पहले सप्ताह में ही तोतलाडोह में 87 प्रतिशत जलभंडारण हो गया है। इसकी क्षमता 1070 एमएम क्यूब है। बारिश अभी बाकी है। 

कमेंट करें
OLdGJ