comScore

बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आए गोपालगंज के युवा, जान जोखिम में डाल पहुंचा रहे राहत सामग्री

August 03rd, 2020 13:06 IST
बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आए गोपालगंज के युवा, जान जोखिम में डाल पहुंचा रहे राहत सामग्री

डिजिटल डेस्क, पटना। "कोई नई बात नहीं। यह तो हर साल की बात है। हर साल बाढ़ आती है-बर्बादियां लेकर। रिलीफें आती हैं, सहायता लेकर। कोई नई बात नहीं। पानी घटता है। महीनों डूबी हुई धरती। धरती तो नहीं, धरती की लाश बाहर निकलती हैं। धरती की लाश पर लड़खड़ाती हुई जिंदे नरकंकालों की टोली फिर से अपनी दुनिया बसाने को आगे बढ़ती है।" 1948 में प्रसिद्ध साहित्यकार फणीश्वर नाथ "रेणु" की डायन कोशी में लिखी पंक्तियां गंडक के बाढ़ पर भी अक्षरशः चरितार्थ है।

बिहार में बाढ़ से हर तरफ तबाही है। सरकार लोगों को बाढ़ से बचाने और राहत दिलाने के लिए हर संभव कोशिश कर रही है, लेकिन यह कोशिश नाकाफी साबित हो रही है। ऐसे में गोपालगंज के कुछ युवाओं ने बाढ़ पीड़ितों को बचाने का जिम्मा अपने सर ले लिया है। ये युवा हर तरह से बाढ़ पीड़ितों की मदद कर रहे हैं। 

दरअसल, 24 जुलाई को गोपालगंज जिले के बरौली, सिधवलिया और बैकुंठपुर प्रखंड में बांध टूटने से बाढ़ ने विकराल रूप अख्तियार कर लिया है। लोगों के घरों में पानी घुसने के बाद वहां से उन्हें निकालकर सुरक्षित जगह ले जाया जा रहा है। पीड़ितों के बचाव अभियान में जुटने के लिए स्थानीय स्तर पर कुछ युवाओं ने मिलकर एक टीम बनाई है, जिसमें प्रशासन और मीडियाकर्मियों को भी शामिल किया गया है। इन युवाओं ने बाढ़ विभीषिका राहत समूह नाम से एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया है जिसमें समाज के सभी वर्ग के लोगों को शामिल किया गया है। इस व्हाट्सएप ग्रुप और राहत टीम का नेतृत्व काली प्रसाद सिंह, डॉ रामेश्वर सिंह और दीपक कुमार सिंह कर रहे हैं। इन्होंने सोशल मीडिया पर एक क्राउड फंड अभियान चलाया है। इस फंड से जुटे पैसों को बाढ़ पीड़ितों में खर्च किया जा रहा है। 

ऐसा भी देखा गया है कि जहां प्रशासन नहीं पहुंच पा रहा वहां ये युवा पहुंचकर जरूरतमन्द लोगों की मदद कर रहे हैं। इस टीम के लोग राहत के तौर पर खाने की सामग्री, प्लास्टिक, दवाईया टॉर्च सहित और भी कई जरूरी सामग्री बाढ़ पीड़ितों तक पहुंचा रहे है। इस टीम के लोगों ने अब तक मुख्य गांव, रतन सराय, कोटवा, सूरवाल, कहला, सड़ार, छोटका बढ़ेया, धरम्बारी, सिरसा मानपुर, सूरवाल, कुंदरिया, खजुरिया, पिपरा, लोहिजरा, हलवार पांडेय टोला, गंभारी, पन्नापुर गांव में राहत पहुंचाई है। यह टीम हर रोज एक रणनीति बनाकर अलग अलग समूह में कार्य करती है।

क्राउड फंड में अब कई लोग आगे आकर मदद कर रहे हैं जिसमे प्रमुख नाम गोपालगंज के देवेन्द्र त्रिपाठी, सिवान के दीपक कुमार सिंह का है। इसके अलावा कुछ अन्य लोग भी इस काम में जुट गए हैं जिनमें डॉक्टर अभिषेक रंजन, सूरज सिंह, नागमणि तिवारी, विक्रांत कुमार, आदर्श कुमार, अप्पू, अनीश कुमार, शिबू कुमार, शिक्षक पंकज गुप्ता, सहित कई अन्य नाम शामिल हैं।

कमेंट करें
cOeZD