दैनिक भास्कर हिंदी: गुम या चोरी हुए मोबाइल का पता लगाने सरकार ने लॉन्च किया पोर्टल, ऐसे करेगा काम

September 19th, 2019

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। स्मार्टफोन आज हमारी दिनचर्या की सबसे बड़ी जरुरत बन गया है, ऐसे में इसके गुम या चोरी हो जाने पर यूजर्स को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। हलांकि ऐसी स्थिति में अब सरकार आपकी मदद करेगी, दरअसल दूरसंचार विभाग (DoT) ने मोबाइल फोन के चोरी होने या गुम होने पर रिपोर्ट करने के लिए नया पोर्टल CEIR (सेंट्रल इक्विपमेंट आइडेंटिटी रजिस्टर) लॉन्च कर दिया है। 

इस नए पोर्टल के जरिए मोबाइल यूजर्स आसानी से मोबाइल फोन को ट्रेस कर सकेंगे। कम्युनिकेशन्स मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद ने मुंबई में एक वेब पोर्टल की शुरुआत की। फिलहाल इसे इस प्लेटफॉर्म को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर लॉन्च किया गया है और जल्द ही यह देशभर के मोबाइल यूजर्स के लिए लॉन्च किया जाएगा।

ऐसे काम करता है पोर्टल
आपको बता दें कि दूरसंचार विभाग (DoT) इस प्रोजेक्ट पर 2017 से काम कर रही है। इस प्रोजेक्ट में ग्लोबल IMEI (इन्टरनेशनल मोबाइल इक्विपमेंट आइडेंटिटी) नंबर को फीड किया जा रहा है, जिसकी मदद से क्लोन किए गए IMEI को ट्रेस किया जा सकेगा। इस पोर्टल पर आप अपने खोए हुए मोबाइल की रिपोर्ट कर सकेंगे। जिसके बाद पोर्टल पर दर्ज डाटाबेस के आधार पर मोबाइल फोन चोरी होने या गुम होने पर ट्रेस किया जा सकेगा।

करना होगा ये काम
मोबाइल फोन गुम होने या चोरी होने के बाद इस पोर्टल पर यूजर्स को FIR दर्ज करानी होगी। इसके लिए DoT ने 14422 हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। रिपोर्ट दर्ज करने के बाद डिपार्टमेंट उस डिवाइस को ब्लैकलिस्ट कर देगी। 

इन समस्याओं से मिलेगी मुक्ति
सभी मोबाइल में उनकी पहचान के लिए IMEI नंबर होता है। यह नंबर रिप्रोग्रामेबल (बदलाव किए जा सकता है) होता है, जिसकी वजह से चोरी करने वाले जालसाज इसे रिप्रोग्राम कर देते हैं। इसके चलते IMEI की क्लोनिंग हो जाती है और एक ही IMEI नंबर पर कई फोन इस्तेमाल कर लिए जाते हैं। दूरसंचार विभाग के के अनुसार आज की तारीख में क्लोन/डुप्लिकेट IMEI हैंडसेट के कई मामले हैं। इसी समस्या के लिए CEIR वेबसाइट प्रोजेक्ट शुरू किया गया है। इसके अलावा इससे सिक्यॉरिटी, चोरी और अन्य समस्याओं में भी मदद मिलेगी।