एयरलाइन: एयर इंडिया समय की सबसे पाबंद, गो फर्स्ट सबसे नीचे

November 23rd, 2022

हाईलाइट

  • एयर इंडिया समय की सबसे पाबंद, गो फस्र्ट सबसे नीचे

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। एयर इंडिया अक्टूबर में समय की सबसे पाबंद एयरलाइन रही, जबकि गो फर्स्ट महीने के दौरान समय पर प्रदर्शन के मामले में एयरलाइनों की सूची में सबसे नीचे रही। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय के आंकड़ों के अनुसार, अक्टूबर के दौरान एयर इंडिया की उड़ानों का ऑन-टाइम प्रदर्शन 90.8 प्रतिशत था, इसके बाद विस्तारा और एयरएशिया ने 89.1 प्रतिशत का ऑन-टाइम प्रदर्शन दर्ज किया।

इसी तरह, इंडिगो एयरलाइन ने 87.5 प्रतिशत का ऑन-टाइम प्रदर्शन दर्ज किया, जबकि स्पाइकजेट का ऑन-टाइम प्रदर्शन 68.9 प्रतिशत था। गो फर्स्ट महीने के दौरान 60.7 प्रतिशत के ऑन-टाइम प्रदर्शन के साथ सबसे नीचे था। नागरिक उड्डयन नियामक डीजीसीए बेंगलुरु, दिल्ली, हैदराबाद और मुंबई सहित चार हवाई अड्डों पर अनुसूचित घरेलू एयरलाइनों के समय पर प्रदर्शन की गणना करता है।

डीजीसीए के अनुसार, विश्लेषण से खुलासा हुआ कि अधिकांश देरी (लगभग 68 प्रतिशत) प्रतिक्रियात्मक कारणों से हुई। विमान, चालक दल, यात्रियों या पिछली यात्राओं के सामान के देर से आगमन के कारण होने वाली देरी प्रतिक्रियात्मक श्रेणी के अंतर्गत आती है।

जहां तक बाजार हिस्सेदारी का संबंध है, घरेलू विमानन क्षेत्र में 56.7 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ अक्टूबर महीने के दौरान इंडिगो अन्य एयरलाइनों से आगे रही। विस्तारा एयरलाइन ने 9.2 प्रतिशत की बाजार हिस्सेदारी के साथ दूसरा स्थान हासिल किया। विमानन नियामक के नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, इंडिगो ने 64.71 लाख हवाई यात्रियों को ढोया जबकि विस्तारा ने 10.49 लाख हवाई यात्रियों को ढोया।

डीजीसीए के अनुसार, जनवरी-अक्टूबर 2022 के दौरान घरेलू एयरलाइनों द्वारा ले जाए गए यात्री पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 6.20 करोड़ (पिछले साल) की तुलना में 9.88 करोड (इस साल) थे, जिससे वार्षिक वृद्धि 59.16 प्रतिशत और मासिक वृद्धि 26.95 प्रतिशत दर्ज की गई। आंकड़ों में कहा गया है कि देश में अक्टूबर के दौरान घरेलू एयरलाइनों द्वारा लगभग 1.14 करोड़ यात्रियों को ले जाया गया, जबकि पिछले साल इसी अवधि के दौरान 89.85 लाख यात्रियों ने यात्रा की थी।

सोर्सः आईएएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.