दैनिक भास्कर हिंदी: बिटकॉइन से अमिताभ बच्चन ने 2 साल में कमाए 114 करोड़ रुपए

December 20th, 2017

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अभासी करेंसी बिटकॉइन का क्रेज केवल आम जनता में ही नहीं है। बल्कि बॉलीवुड में भी इसका क्रेज साफ देखने को मिल रहा है। बहुत ही कम समय में दुनिया में चर्चा का विषय बनी बिटकॉइन करेंसी जिस तरह से तेजी से आगे बढ़ रही है हर कोई इसमें निवेश करना का सोच रहा है। बता दें कि बॉलिवुड के महानायक अमिताभ बच्चन भी बिटकॉइन की रेस में शामिल हो गए हैं। दरअसल बच्चन परिवार ने बिटकॉइन में ढाई साल पहले लगभग 1.6 करोड़ रुपए का निवेश किया था जिसकी वैल्यू अब 114 करोड़ रुपये के आसपास हो चुकी है। बिग बी को इतना मुनाफा बिटकॉइन को लेकर वॉल स्ट्रीट और कई फाइनैंशल मार्केट्स में जो दीवानगी पैदा हुई है उसके चलते ही हुआ है। 

        Bitcoin fever grips Amitabh Bachchan, earns $250,000 in 2.5 years

 

1.6 करोड़  के इन्वेस्टमेंट ने दिलाए 114 करोड़


मिली जानकारी के मुताबिक बिग बी ने जूनियर बच्चन यानी अभिषेक बच्चन के साथ मिलकर साल 2015 में पर्सनल इनवेस्टमेंट के तहत मेरिडियन टेक पीटीई में 1.6 करोड़ रुपए इनवेस्ट किया थे। मेरिडियन टेक सिंगापुर की कंपनी है जिसकी स्थापना वेंकट श्रीनिवास मीनावल्ली ने की थी। कई छोटी टेक्नॉलजी और फाइनैंशल टेक्नॉलजी कंपनियों की तरह मेरीडियन के बारे में भी कुछ ही लोग जानते थे, लेकिन पिछले साल 2016 में मेरीडियन की प्राइम एसेट Ziddu.com को मीनावल्ली के ही सपॉर्ट वाली एक अन्य विदेशी कंपनी लॉन्गफिन कॉर्प ने खरीद लिया। जिसका फायदा सीधे तौर पर अमिताभ बच्चन को मिला क्योंकि बिग बी ने मेरिडियन टेक में जो निवेश किया हुआ था उसके बदले में उनको लॉन्गफिन कॉर्प के करीब 250000 शेयर मिले हैं।


इस बात की जानकारी खुद कंपनी के संस्थापक मीनावल्ली ने ईटी को मेसेज करके दी, उन्होंने मैसेज में बताया कि 'मेरीडियन टेक में अपनी होल्डिंग के बदले बच्चन पिता-पुत्र को एसेट की खरीदारी के बाद लॉन्गफिन के 250000 शेयर मिले।' सोमवार को लॉन्गफिन का स्टॉक प्राइस 70 डॉलर था, इस तरह तब लॉन्गफिन में बच्चन परिवार की होल्डिंग की वैल्यू 1.75 करोड़ डॉलर थी, जो मौजूदा एक्सचेंज रेट के मुताबिक लगभग 114 करोड़ रुपये हुई। मीनावल्ली ने बताया, 'ब्लॉकचेन को लेकर दुनियाभर में जो दीवानगी दिख रही है, उसके चलते ही ऐसा हुआ है।'

बता दें कि Ziddu अलग-अलग देशों में बिटकॉइन सहित अन्य वर्चुलअल करेंसी का इस्तेमाल करके माइक्रोफाइनेंस की सुविधा मुहैया कराती है। 

क्‍या है बिटकॉइन


बिटकॉइन एक वर्चुअल करेंसी जैसी है जिसे एक ऑनलाइन एक्सचेंज के माध्यम से कोई भी खरीद सकता है। इसकी खरीद-फरोख्त से फायदा लेने के अलावा भुगतान के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। इसके जरिए बिना बैंक को माध्‍यम बनाए लेन-देन किया जा सकता है। हालांकि भारत में इस करेंसी को न तो आधिकारिक अनुमति है और न ही इसे रेग्युलेट करने का कोई नियम बना है।