दैनिक भास्कर हिंदी: इकोनॉमी को झटका, 17 महीने के निचले स्तर पर पहुंची IIP

January 12th, 2019

हाईलाइट

  • नवंबर महीने में ग्रोथ के मोर्चे पर इकोनॉमी को बड़ा झटका लगा है।
  • नवंबर में आईआईपी ग्रोथ 0.5 फीसदी पर रही है जबकि अक्टूबर में आईआईपी ग्रोथ 8.5 फीसदी रही थी।
  • मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में आई गिरावट की वजह से इंडस्ट्रियल आउटपुट ग्रोथ 17 महीनों के नीचले स्तर पर पहुंच गई है।

डिजिटल डेस्क, मुंबई। नवंबर महीने में ग्रोथ के मोर्चे पर इकोनॉमी को बड़ा झटका लगा है। नवंबर में आईआईपी ग्रोथ 0.5 फीसदी पर रही है जबकि अक्टूबर में आईआईपी ग्रोथ 8.5 फीसदी रही थी। मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर खासकर कंज्यूमर और कैपिटल गुड्स के उत्पादन में आई गिरावट की वजह से  इंडस्ट्रियल आउटपुट ग्रोथ 17 महीनों के नीचले स्तर पर पहुंच गई है। सेंट्रल स्टेटस्टिक्स ऑफिस की ओर से शुक्रवार को ये आंकड़े जारी किए गए। 

महीने दर महीने आधार पर नवंबर में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की ग्रोथ 7.9 फीसदी से घटकर 0.4 फीसदी रही है। नवंबर में माइनिंग सेक्टर की ग्रोथ 7 फीसदी से घटकर 2.7 फीसदी रही है। महीने दर महीने आधार पर नवंबर में इलेक्ट्रिसिटी सेक्टर की ग्रोथ 10.8 फीसदी से घटकर 5.1 फीसदी रही है। वहीं जुलाई में कैपिटल गुड्स की ग्रोथ 16.8 फीसदी से घटकर 3.4 फीसदी रही है। प्राइमरी गुड्स की ग्रोथ 6 फीसदी से घटकर 3.2 फीसदी रही है। 

महीने दर महीने आधार पर कंज्यूमर ड्युरेबल्स गुड्स की ग्रोथ 17.6 फीसदी से घटकर -0.9 फीसदी रही है। कंज्यूमर नॉन-ड्युरेबल्स गुड्स की ग्रोथ 7.9 फीसदी से घटकर -0.6 फीसदी रही है। महीने दर महीने आधार पर इंटरमीडिएट गुड्स की ग्रोथ 1.8 फीसदी से घटकर -4.5 फीसदी रही है।

खबरें और भी हैं...