comScore

Investment: मिराए ने लांच किया मिराए एसेट आर्बिट्रेज फंड

Investment: मिराए ने लांच किया मिराए एसेट आर्बिट्रेज फंड

हाईलाइट

  • मिराए ने लांच किया मिराए एसेट आर्बिट्रेज फंड
  • एनएफओ 3 जून 2020 को खुलेगा औऱ 12 जून 2020 को बंद होगा
  • यह एक ओपेन इंडेड स्कीम होगा, आर्बिट्रेज फंड में निवेश करने का मौका मिलेगा

मुंबई, 3 जून, 2020: भारत का तेजी बढ़ता हुआ फंड हाउस मिराए एसेट इन्वेस्टमेंट मैनेजर्स इंडिया ने मिराए एसेट आर्बिट्रेज फंड लांच करने की घोषणा की है। यह एक ओपेन इंडेड स्कीम होगा, आर्बिट्रेज फंड में निवेश करने का मौका मिलेगा। कंपनी का ऑफर सबस्क्रिप्शन के लिए 3 जून 2020 को खुलेगा औऱ 12 जून 2020 को बंद होगा। निफ्टी 50 के आर्बिट्रेज इंडेक्स के तहत इसके प्रमुख बातें इस तरह से होंगी। 

  • इसके तहत आर्बिट्रेज फंड में निवेश का मौका मिलेगा। जिसमें लंबी अवधि में कैश और छोटी अवधि में फ्यूचर में निवेश किया जा सकेगा। 
  • इसका एक छोटा हिस्सा आर्बिट्रेज के दूसरे फंडों (कार्पोरेट्स) में निवेश किया जा सकेगा। 
  • इक्विटी बाजार के जोखिमों को देखते हुए रिस्क फ्री रिटर्न मुहैया हो सकेगा। 
  • आर्बिट्रेज में निवेश करने के सीमित मौके होगें। स्कीम के तहत छोटा पार्ट उच्च क्वालिटी के डेट सिक्योरिटीज में औऱ मनी मार्केट के दूसरे जगहों पर निवेश किया जाएगा।
  • इसमें निवेश के तहत पैसे को टर्म डिपॉजिट, कैश और कैश के दूसरे संभागो मे लगाया जाएगा। 
  • इस फंड का देखरेख श्री जिग्नेश एन राव और श्री जिगर सेथिया(इक्विटी), श्री महेंद्र जाजू (विभाग) करेंगे। 

इस मौके पर मिराए एसेट के इन्वेस्टमेंट मैनेजर्स (इंडिया) प्रा. लिमिटेड के सीईओ श्री स्वरूप मोहंती ने कहा “मिराए एसेट आर्बिट्रेज फंड का उद्देशय् रिस्क फ्री रिटर्न देने का है। जो कि इक्विटी बाजार में ज्यादा होता है। बाजार के उतार-चढ़ाव को देखते हुए आर्बिट्रेज को इस तरह से मैनेज किया जाएगा कि यह बेहतर रिटर्न प्रदान कर सके। यह छोटी से मध्यम अवधि में निवेश करने वाले के लिए बेहतर विकल्प होगा। इक्विटी और डेड साइड को देखते हुए मिराए के अनुभव के आधार पर इस फंड का एलोकेशन किया जाएगा। 

इस स्कीम में शुरूआती निवेश 5000 का होगा जो 1 रुपए के मल्टीप्लायर में होगा। यूनिट प्राप्त होने के बाद बाकी पैसा निवेशकों रिटर्न कर दिया जाएगा। 

मिराए ऐसेट आर्बिट्रेज फंड  निवेशकों को रेगुलर और डायरेक्ट प्लान दोनों में निवेश करने का मौका देता है। वहीं इसमें ग्रोथ के साथ डिविडेंट का भी ऑप्शन उपलब्ध रहेगा। 

यह स्कीम रिपरचेज और बिक्री के लिए 22 जून को दोबारा खोला जाएगा। 

स्रोत: इंटरनल

म्युचुअल फंड में निवेश जोखिमों के अधीन है. निवेश करने से पहले दस्तावेजों को अच्छी तरह पढ़ ले। 

कमेंट करें
LaIGA