comScore

रुपए चार गुना करने के लालच में 12 लाख की ठगी, अंतरराज्यीय गिरोह के 3 सदस्य गिरफ्तार

September 16th, 2020 18:30 IST
रुपए चार गुना करने के लालच में 12 लाख की ठगी, अंतरराज्यीय गिरोह के 3 सदस्य गिरफ्तार

खुलासा : ओरछा में ठगी का मामला, सरगना सहित तीन आरोपी फरार, तलाश जारी
डिजिटल डेस्क  निवाड़ी ।
रुपए चार गुना रुपए करने का लालच देकर 12 लाख की ठगी का मामला सामने आया है। पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। गिरोह के सरगना सहित तीन आरोपी फरार हैं। ओरछा निवासी परिवार ने ठगी का शिकार होने के बाद ओरछा पुलिस थाने में शिकायत दर्ज की थी।
निवाड़ी एएसपी प्रतिभा त्रिपाठी ने मंगलवार को मामले का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि थाना ओरछा में स्थानीय निवासी आदित्य रंजना यादव पत्नी राजेंद्र यादव ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी। जिसमें बताया कि एक महिला के बुलाने पर वह पति के साथ 26 अगस्त को बुंदेला बाबा मंदिर के पास हाइवे रोडी चौकी चकरपुर गई थी। वहां पर पहले से दो अन्य लोग मौजूद थे। उनमें से एक व्यक्ति हमारे घर में चंडी का वास बताकर परेशानी दूर करने के लिए चार दिन बाद फिर से बुलाया। इस बार वहां पर एक बाबा मिले, जिन्होंने बाल्टी में से कांच के टुकड़े घुमाकर चार सौ-सौ के नोट निकाले। 
राजेंद्र को चार सौ रुपए देकर कहा रुपयों का इंतजाम कर लो, तुम्हारा पैसा चार गुना हो जाएगा। जब हम बुलाएं, तब पैसे लेकर आना। 6 सितंबर को राजेंद्र यादव के पास उसका फोन आया कि अछरूमाता मंदिर के पास रुपए लेकर आ जाओ। राजेंद्र 12 लाख रुपए लेकर पहुंचा तो 4 गुना रुपए बना कर लौटाने की बात कहकर वह लोग रुपए लेकर चले गए। इसके बाद उनसे कोई संपर्क नहीं हो सका। शिकायत पर ओरछा थाना में धारा 420 के तहत केस दर्ज किया गया। थाना ओरछा में रिपोर्ट दर्ज कराई गई।
घेराबंदी कर पकड़े आरोपी, डेरे से 12 लाख रुपए बरामद
टीम ने मुखबिर की सूचना पर गोवा नर्सरी थाना बम्हौरी, जिला टीकमगढ़ में दबिश दी गई। अंतर्राज्यीय गिरोह के सदस्य गब्बर गौंड़, सुरेश गौंड़ और अजय गौंड़ को घेराबंदी कर पकड़ा गया। पूछताछ में उन्होंने बताया कि आरोपी महिला, उसका पति मुकेश उर्फ  बाबा राजा गौंड़ और जानकी गौंड़ ने साथ मिलकर 12 लाख रुपए की ठगी की थी। आरोपियों के डेरे से 12 लाख रुपए जब्त किए गए। पकड़े गए आरोपियों को न्यायालय में पेश किया। गिरोह का सरगना मुकेश उर्फ  बाबा राजा गौंड़, उसकी पत्नी और जानकी गौंड़ फरार हैं। पुलिस तलाश कर रही है। गिरफ्तारी में ओरछा थाना प्रभारी विनायक शुक्ला, चौकी प्रभारी नाराई उपनिरीक्षक गौरव राजोरिया, सहायक उपनिरीक्षक लीलाधर तिवारी, प्रधान आरक्षक करण सिंह बुंदेला, मनोज तिवारी, दुर्गेश, इकबाल, साइबर सेल टीम के रविंद्र यादव, विशाल सोनी, राघवेंद्र मिश्रा की अहम भूमिका रही।

कमेंट करें
Xrd34