comScore

मध्यांचल बैंक में 21 लाख का घोटाला, ईओडब्लू ने दर्ज किया प्रकरण

मध्यांचल बैंक में 21 लाख का घोटाला, ईओडब्लू ने दर्ज किया प्रकरण

डिजिटल डेस्क रीवा ।मध्यांचल ग्रामीण बैंक के बदरांव शाखा में करीब 21 लाख रुपए के गबन का मामला सामने आया है। ईओडब्लू रीवा ने तत्कालीन शाखा प्रबंधक अमित कुमार वर्मा सहित तीन लोगों को आरोपी बनाया है। इस संबंध में बैंक के क्षेत्रीय प्रबंधक बीपी आसाठी ने सितंबर 2019 में शिकायत की थी। जिसकी जांच के बाद ईओडब्लू ने गडबड़ी पाया और प्रकरण दर्ज किया।
बताया गया है कि बैंक में इस पूरे खेल को तत्कालीन बैंक प्रबंधक अमित कुमार वर्मा, कार्यालय सहायक आरएन वर्मा सहित एक अन्य मिलकर अंजाम दे रहे थे। तत्कालीन बैंक प्रबंधक एवं महेंद्र श्रीवास्तव के नाम पर ही बैंक में खाता खोला गया था। इन खातों में बैंक के ग्राहकों की राशि को नियम विरूद्ध तरीके से ट्रांसफर कर दिया जाता था। इस तरह दर्जन भर से ग्राहकों के करीब 21 लाख की राशि अलग-अलग समय पर ट्रांसफर कर दिया गया। जब इसकी शिकायत बैंक के अधिकारियों के पास पहुंची। तो विभागीय जांच बैठाई गई। जांच सितंबर 2019 में पूरी हुई, जिसमें पाया गया कि ग्राहक बुटान यादव, शिखा वर्मा, तेजमनि तिवारी, अंकुर प्रजापति, रामखेलावन शर्मा आदि के खाते से नियम विरूद्ध ढंग से राशि आहरित की गई है। प्रबंधक सहित अन्य कर्मचारियों को विभागीय जांच में दोषी पाए जाने के बाद क्षेत्रीय प्रबंधक ने ईओडब्लू को पत्र लिख प्रकरण दर्ज करने की मांग की। करीब ढ़ाई माह की जांच के बाद ईओडब्लू ने आरोप सही पाया और प्रकरण दर्ज कर लिया है। 
इनके खातों से राशि डकारी
- बुटान यादव पति रामरसीले निवासी लखैया थाना गुढ़ के खाते से 2 लाख 10 हजार 6 रूपये डकारे गए। मध्यांचल ग्रामीण बैंक बदरांव द्वारा कैश क्रेडिट के अंतर्गत 2 लाख 10 हजार रूपये का ऋण स्वीकृत किया गया था। आरोप है कि अमित वर्मा एवं आरएन वर्मा ने अपने सहयोगी महेन्द्र श्रीवास्तव से मिलकर बुटान यादव के बैंक खाते से बिना जमा पर्ची महेन्द्र श्रीवास्तव के खाते में अनाधिकृत रूप से विभिन्न दिनांकों में यह राशि अंतरित की गई।
- खातधारक शिखा वर्मा के बैंक खाते से लगभग तीन वर्ष के अंतराल में  अलग-अलग तारीख पर 2 लाख 53 हजार रूपये अमित वर्मा के खाते में बिना जमाकर्ता की सहमति एवं अंतरण पर्ची में खाताधारक के हस्ताक्षर बिना ही अंतरित कर जमा किए गए।
- तेजमनि तिवारी, अंकुर प्रजापति एवं रामखेलावन वर्मा के किसान क्रेडिट खाता से 1 लाख 10 हजार 24 रूपये अनाधिकृत रूप से महेन्द्र श्रीवास्तव के बैंक खाता में अंतरण किया गया। 
- कई अन्य खाताधारकों की राशि भी ट्रांसफर हुई है। छत्रपति नगर निवासी महेन्द्र श्रीवास्तव के खाते में 17 लाख 90 हजार 224 रूपये की राशि ट्रांसफर की गई। 
इन धाराओं के तहत अपराध दर्ज
आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ भोपाल में भारतीय दण्ड संहिता की धारा 409, 120 बी एवं भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 1988 संशोधन अधिनियम 2018 की धारा 7 ए, 7 सी, 13 (1)(ए), 13 (2) का अपराध दर्ज  कर विवेचना में लिया गया है।
इनका कहना है
 मध्यांचल ग्रामीण बैंक बदरांव शाखा में खातेदारों की राशि गबन किए जाने की शिकायत सहित क्षेत्रिय प्रबंधक द्वारा सितम्बर माह में की गई थी। जांच के बाद तत्कालीन शाखा प्रबंधक सहित तीन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। प्रारंभिक चरण में 21 लाख से ज्यादा का गबन सामने आया है।""
राजेश दण्डोतिया, एसपी ईओडब्ल्यू
 

कमेंट करें
0uWwF