दैनिक भास्कर हिंदी: डेल्टा वेरिएंट के नाशिक जिले में मिले 30 मरीज

August 7th, 2021

डिजिटल डेस्क, नाशिक । तेज रफ्तार से बढ़ने वाले डेल्टा वेरिएंट के नाशिक जिले में 30 मरीज सामने आने के बाद नागरिको को सनसनी फैल गई है। इसमें से नाशिक शहर के दो, सिन्नर, चांदवड़, निफाड़, नांदगाव, इगतपुरी और येवला तहसील के 28 मरीज शामिल है।   डेल्टा वेरियंट का संक्रमण रोकने के लिए स्वास्थ्य यंत्रणा को सतर्क और सजग रहने के आदेश जिलाधिकारी सूरज मांढरे ने दिए हैं।

जिले के कोरोना बाधित मरीज में से 5 प्रतिशत मरीजों के स्वैब जांच के लिए पुणे के एनआयवी के पास भेजे जाते हैं। कोरोना संक्रमन का बदला हुआ स्वरूप का जायाज लेने के लिए जिनोमिक सिक्वेन्सिंग जांच एनआईवी में की जा रही है। कोरोना विषाणु में हुआ बदलाव, उसका प्रकोप और इसकी जानकारी जिनोमिक सिक्वेन्सिंग जांच से स्पष्ट होती है। नाशिक से पिछले 15 दिनों में 155 मरीजों के स्वैब जांच के लिए भेजे गए.थे इसमें से 30 मरीजों के स्वैब में डेल्टा वेरिएंट होने की बात सामने आई। संबंधित 30 मरीजों के संपर्क में आने वालो की जांच करने के आदेश जिलाधिकारी मांढरे ने दिए।

शहर में ‘डेल्टा’ के दो मरीज
नाशिक शहर के वडाला परिसर के सादिक नगर और गंगापुर रोड परिसर में डेल्टा वेरिएंट का प्रत्येकी एक मरीज सामने आने से मनपा के आरोग्य यंत्रणा की जिम्मेदारी बढ़ गई है। साथ ही सिन्नर तहसील के दोडी, मेंढी, ठाणगाव, मुसलगाव में भी डेल्टा वेरियंट के मरीज पाए गए हैं। निफाड़ तहसील के महाजनपूर, कसबे सुकेणे, येवला तहसील के येवला सहित कासारखेडा में डेल्टा वेरिएंट के मरीज मिले। नांदगाव तहसील के कासारी, मांडवड़, चांदवड़ तहसील के वडालीभोई, कुंडलगांव, कानमंडाले, कलवण तहसील के शिवाजीनगर, इगतपुरी तहसील के घोटी में भी मरीज सामने आए। 

जिले में डेल्टा वेरिएंट के मरीज सामने आए हैं। परंतु वेरिएंट डेल्टा प्लस अधिक खतरनाक नहीं है। इसलिए नागरिकों को डरने की जरूरत नहीं है। स्थिति से निपटने के लिए यंत्रणा सजग है। नागरिक सावधानी बरतते हुए कोरोना नियमों का पालन करें।  -सूरज मांढरे, जिलाधिकारी, नाशिक.

खबरें और भी हैं...