comScore

चोरी करने से पहले वृद्ध को उतार दिया मौत के घाट, घटना के बाद क्षेत्र में सनसनी

चोरी करने से पहले वृद्ध को उतार दिया मौत के घाट, घटना के बाद क्षेत्र में सनसनी


डिजिटल डेस्क रीवा।  बिछिया थाना क्षेत्र अंतर्गत सिलपरा में रहने वाले वृद्ध की हत्या का ऐसा मामला सामने आया है, जो सबसे अलग है। इस घटना की तफ्तीश में जो बात सामने आई है वह चौंकाने  वाली है।  वृद्ध को इसलिए मौत के घाट उतारा गया, ताकि उनके घर में चोरी आसानी से की जा सके।  पड़ोसियों की मदद से पुलिस ने हत्या के आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के अनुसार   सिलपरा में पॉवर हाउस के समीप रहने वाले रामप्रताप चतुर्वेदी पिता स्व. हनुमान प्रसाद 72 वर्ष शुक्रवार की दोपहर से लापता थे। उनके घर पर ताला लटका था। शनिवार की सुबह भतीजे कौशलेन्द्र ने बिछिया थाना पहुंचकर उनके लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।
पड़ोसियों ने रात में घर से भागते एक को पकड़ा था-
शुक्रवार की देर शाम तक तक जब रामप्रताप अपने घर नहीं पहुंचे, तो पड़ेासियों को चिंता हुई। पड़ोसी उनके घर पर नजर बनाए हुए थे। देर रात पड़ोसियों को उनके घर में कुछ आहट सुनाई दी। जिस पर पड़ोसी एकजुट होकर यह देखने निकले की माजरा क्या है। इस दौरान उनके घर से निकलकर एक युवक तेजी से भागा, लेकिन भीड़ से उसे पकड़ लिया। इसके साथ ही डॉयल 100 को फोन किया और पुलिस वहां पहुंचकर उसे थाने ले गई थी। लेकिन उस समय तक यह कोई नहीं समझ पाया कि रामप्रताप की हत्या हो गई है।
ड्रम के अंदर मिला दूसरा आरोपी-
शनिवार की सुबह वृद्ध के भतीजे ने थाना पहुंचकर जब लापता होने की शिकायत दर्ज कराई तो पुलिस की चिंता बढ़ी। बिछिया थाना प्रभारी शशि धुर्वे तत्काल ही सिलपरा पहुंच गई। उन्होंने जब घर की छानबीन की तो एक आरोपी ड्रम के अंदर छिपा मिला। दरअसल रात में जब एक युवक उसके घर से निकलते पकड़ा गया तो उसके बाद बाहर से ताला बंद कर दिया गया था। जिससे दूसरा आरोपी निकल नहीं पाया।
झाडिय़ों में छिपाई थी लाश-
सिलपरा के जंगली क्षेत्र में वृद्ध की लाश मिली है। पकड़े गए दोनों आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने वहां जाकर शव बरामद किया है। मौके पर सीएसपी शिवेन्द्र सिंह बघेल भी पहुंचे। एफएसएल अधिकारी डॉ. आरपी शुक्ला ने भी वहां पहुंचकर जांच की। बताते हंै कि वृद्ध की गला दबाकर हत्या करने के बाद घसीटने के निशान मिले हैं।
हैदराबाद में बेटा-
मृतक रामप्रताप का बेटा हैदराबाद में रहता है। बेटियों की शादी हो चुकी है। बताते हैं कि बहू इन दिनों मायके गई थी। वृद्ध रामप्रताप का पड़ोसी काफी ध्यान रखते थे। उनके घर न लौटने की जानकारी पड़ोसियों द्वारा ही परिवार के अन्य सदस्यों को दी गई थी। जिसके बाद आज सुबह से उनकी तलाश तेज हुई थी।
ये हैं आरोपी-
वृद्ध की हत्या के आरोप में उपरहटी निवासी सतीश गुप्ता और नारायण चक्की के पास बिछिया में रहने वाले  पवन बख्शी पकड़े गए हैं। बताया जा रहा है कि आरोपी सतीश सिलपरा में  मृतक रामप्रताप के घर के नजदीक ही किराए के मकान में रह रहा था। वृद्ध के घर से सामान उड़ाने के लिए यह योजना तैयार की गई। चूंकि वृद्ध उसे पहचानता था, इसलिए पहले उसे मौत के घाट उतारा और फिर रात में उसके घर सामान समेटने पहुंच गए।
इनका कहना है-
 वृद्ध की हत्या करने के बाद उसके घर में चोरी करने के लिए दो युवक घुसे। इन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इनसे पूछताछ जारी है।
शिवेन्द्र सिंह बघेल, सीएसपी

कमेंट करें
2Gv0T