अमरावती: फायर ऑडिट को ठेंगा दिखा रहे कोचिंग क्लासेस

May 25th, 2022

डिजिटल डेस्क, अमरावती। डिपो मार्ग पर शिवाजी कॉम्प्लेक्स में दो माह पहले लगी आग के बाद मनपा प्रशासन ने शहर के सभी कोचिंग क्लासेस को फायर ऑडिट करने के निर्देश दिए थे। लेकिन मनपा के फायर ऑडिट के आदेश को कोचिंग क्लास संचालकों ने मात्र ठेंगा दिखाया। शहर में 110 कोचिंग क्लास चलाए जाते है। इनमें से केवल 25 कोचिंग क्लास संचालकों ने एनओसी के लिए आवेदन उठाए। लेकिन मंगलवार 24 मई तक मनपा के दमकल विभाग के पास केवल 3 कोचिंग क्लासेस के फाईल फायर ऑडिट के लिए पहुंचे। इसीबीच मंगलवार 24 मई को मनपा में हुई बैठक में निगमायुक्त डॉ. आष्टीकर ने कोचिंग क्लासेस को 28 मई तक का अल्टीमेटम दिया है। अन्यथा 31 मई से फायर ऑडिट न करनेवाले कोचिंग क्लासेस को सील करने के निर्देश दिए है। 

शहर में निजी टयूशन क्लासेस जिस इमारतों के हॉल में लिए जाते है। उस हॉल का फायर ऑडिट होना जरुरी है। लेकिन शहर में 110 कोचिंग क्लासेस संचालकों ने अभी तक फायर ऑडिट नहीं करवाया। जिससे यह कोचिंग क्लासेस विद्यार्थियों की सुरक्षा व जनहानी तथा संपत्ति के लिए खतरनाक साबित हो रहे है। इस कारण महाराष्ट्र मनपा अधिनियम 1949 की धारा 376(अ) के तहत निजी कोचिंग क्लासेस जिस इमारत में चलाए जा रहे है। उन्हें 31 मई से सील किया जाएगा। मनपा के दमकल विभाग के अधीक्षक सैयद अनवर ने बताया कि 1 मई से मनपा ने कोचिंग क्लासेस संचालकों को फायर ऑडिट के लिए जरुरी सभी कागजातों के साथ-साथ एनआेसी के लिए फाईल जमा करने के आदेश दिए थे। लेकिन अब तक एनओसी के लिए केवल 25 आवेदन उठाए गए और उसमें से केवल तीन कोचिंग क्लासेस ने एनओसी के लिए फाईल जमा की है। शेष सभी कोचिंग क्लास संचालकों को 28 मई तक एनओसी के लिए फाईल जमा करना है।