दैनिक भास्कर हिंदी: एंटीलिया मामला : एक और पुलिसकर्मी बर्खास्त, इस बार इंस्पेक्टर माने पर गिरी गाज

June 1st, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। एंटीलिया विस्फोटक और कारोबारी मनसुख हिरेन की हत्या के मामले में गिरफ्तार पुलिस इंस्पेक्टर सुनील माने को भी पुलिस सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। माने इस मामले में बर्खास्त किया जाने वाला चौथा पुलिसकर्मी है। इससे पहले मामले के मुख्य आरोपी एपीआई सचिन वाझे, रियाजुद्दीन काजी और पुलिस कांस्टेबल विनायक शिंदे को भी पुलिस सेवा से बर्खास्त किया जा चुका है। इस मामले में माने समेत चारों आरोपियों को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने गिरफ्तार किया है। 

गिरफ्तारी के बाद ही माने को निलंबित कर दिया गया था। मंगलवार को मुंबई पुलिस आयुक्त हेमंत नागराले ने माने को भारतीय संविधान की धारा 311(2)(बी) के तहत तुरंत प्रभाव से बर्खास्त करने से जुड़ा आदेश जारी किया। मामले में गिरफ्तारी से पहले माने अपराध शाखा की कांदिवली यूनिट का प्रमुख था। अप्रैल महीने में उसे उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर जिलेटिन की छड़ें लदी स्कॉर्पियों कार खड़ी करने और कारोबारी मनसुख हिरेन की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। मामले की छानबीन कर रही एनआईए का दावा है कि हिरेन की हत्या के समय माने भी वारदात की जगह पर मौजूद था।

हत्या से पहले 4 अप्रैल को हिरेन को आखिरी बार कांदिवली क्राइम ब्रांच से ही तावड़े के नाम से फोन कर बुलाया गया था। गिरफ्तारी के बाद माने को लोकल आर्म्स डिविजन में भेज दिया गया था। एंटीलिया के बाहर इसी साल 25 मार्च को विस्फोटक भरी कार मिली थी जबकि हिरेन का शव 5 अप्रैल को ठाणे की एक खाड़ी से बरामद किया गया था। स्कॉर्पियों कार हिरेन की ही थी, इसलिए शक है कि सबूत मिटाने के लिए उसकी जान ली गई। एनआईए को शक है कि माने को न सिर्फ पूरी साजिश की जानकारी थी बल्कि वह इसमें सक्रिय रुप से शामिल भी था।