परेशान हो रहे लोग: बारिश शुरू होते ही फिर गोदामों से घरों में घुस रहे घुन और कीड़े

June 30th, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर।   भारतीय खाद्य निगम के गोदामों के आसपास की बस्तियों में रहने वाले नागरिकों को हर साल की तरह इस साल भी घुन और कीड़े परेशान करने लगे हैं। घुन का प्रकोप बारिश के मौसम में ज्यादा बढ़ जाता है। घुन पतली से पतली जाली लगाने से भी नहीं रुकते हैं। दरवाज़ों, खिड़कियों और चौखट के बारीक से बारीक छेद में से भी घुन घरों में प्रवेश कर जाते हैं। घरों में प्रवेश कर ये कीड़े अलमारी, मेज़ की दराज, कपड़े, बिस्तर, के साथ-साथ बाथरूम और बर्तनों में भी घुस जाते हैं। इन कीड़ों की आयु केवल कुछ घंटों की होती है, परंतु इतनी देर में ही एक-एक कीड़ा हज़ारों अंडे दे देता है। 

दवा का छिड़काव नही : कीड़े खाद्य सामग्री में भी गिर जाते हैं। लोगों को डर लगा रहता है कि कीड़े उनके या बच्चों के कान, आंख या नाक में न घुस जाएं। पहले इन कीड़ों को नियंत्रित करने के लिए खाद्य निगम की ओर से कीटनाशक दवाओं का छिड़काव किया जाता था, लेकिन जानकारी मिली है कि खाद्य पदार्थों पर कीटनाशक रसायनों का छिड़काव करने की अब अनुमति नहीं दी जाती है।  

4 से 5 माह रहता है आतंक : स्थानीय निवासी किशन शर्मा ने बताया कि नागपुर के प्रशांत नगर, समर्थ नगर, चूना भट्ठी, गजानन नगर, नवजीवन कॉलोनी जैसे इलाकों के नागरिकों को हर वर्ष इन कीड़ों का आतंक चार-पांच महीने झेलना पड़ता है। ये कीड़े हवा के साथ उड़कर ऊंची-ऊंची मंज़िलों तक में भी आसानी से पहुंच जाते हैं। लोगों में यह चर्चा है कि अभी तक पूरी रफ्तार से बारिश तो शुरू नहीं हुई है, लेकिन लेकिन इन कीड़ों की बरसात शुरू हो गई है ।