दैनिक भास्कर हिंदी: नकली सब इंस्पेक्टर बनकर आरक्षकों से कर रहा था ठगी, सब इंस्पेक्टर की परीक्षा पास कराने का दिया झांसा

August 30th, 2019

डिजिटल डेस्क,रीवा। ऊंची पहुंच बताकर थानेदार की परीक्षा में सफलता दिलाने के नाम पर  ठगी करने वाले को पुलिस ने पकड़ा है। यूपी का यह युवक रीवा में क्राइम ब्रांच का सब इंस्पेक्टर बनकर  लोगों को ठग रहा था। चोरहटा थाना में पदस्थ एक आरक्षक को जब उसने फोन कर अपनी पहुंच का हवाला देते हुए यह कहा कि थानेदार की जो परीक्षा होने वाली है, उसमें वह सफल करा देगा। इसके लिए पचास हजार रूपये की व्यवस्था करनी होगी। आरक्षक दिलीप तिवारी ने इसकी जानकारी अपने अधिकारियों को दी। जिस पर उसे पकड़ने की योजना तैयार की गई।  बड़े-बड़े अधिकारियों और मिनिस्टर  से अपना परिचय बताने वाले इस शख्स को पुलिस ने पकड़ने की येाजना बनाई। आज जैसे ही वह रेलवे स्टेशन मोड़ पर आरक्षक से पैसे लेने पहुंचा, तभी उसे दबोच लिया गया। पकड़े गए फर्जी क्राइम सब इंस्पेक्टर का नाम नीलेश द्विवेदी निवासी निरौधा थाना कौंधियारा जिला प्रयागराज उत्तरप्रदेश बताया गया है।

होटल में ठहरा था

एडिशनल एसपी शिवकुमार वर्मा ने बताया कि यह नकली क्राइम सब इंस्पेक्टर शहर के एक होटल में ठहरा था। उसने कितने लोगों के साथ ठगी की है, इसकी जानकारी जुटाई जा रही है। माना जा रहा है कि इसने विभिन्न तरीकों से कई लोगों को अपना शिकार बनाया गया। 

फर्जी आईडी और दस्तावेज मिले

इस नकली क्राइम सब इंस्पेक्टर से पुलिस ने कई फर्जी दस्तावेज जब्त किए है। पुलिस की फर्जी आईडी मिली है। वर्दी में लगने वाले स्टार भी बरामद किए गए हैं। बताया जा रहा है कि यह युवक काफी दिनों से रीवा में फर्जी क्राइम  ब्रांच का इंस्पेक्टर बन कर घूम रहा था। 

इन धाराओं में अपराध दर्ज

आरोपी के विरूद्ध चोरहटा थाना में धारा 419,  420 468, 471 एवं 170 का अपराध दर्ज किया गया है। इस शख्स को पकडऩे मेें सीएसपी शिवेन्द्र सिंह बघेल, प्रभारी थाना प्रभारी वीरेन्द्र सिंह परिहार, उप निरीक्षक निशा खूता, आरक्षक दिलीप तिवारी, त्रिदेव तिवारी, विवेक सिंह, प्रितेश गौतम आदि का विशेष योगदान रहा है।

वाहन एजेंसी से बाइक उठाने के मामले में भी आरोपी 

एएसपी ने बताया कि आरोपी के विरूद्ध समान थाना में भी एक अपराध दर्ज है। नेहरू नगर स्थित एक एजेंसी से 1 लाख 28 हजार रूपये की बाइक फाइनेंस कराई है। वाहन के सिर्फ 70 हजार रूपये दिए और फिर चम्पत हो गया था।