दैनिक भास्कर हिंदी: दूसरी जाति के लड़के से की शादी, इसलिए भाई ने सूनी कर दी बहन की मांग

June 19th, 2019

डिजिटल डेस्क,छतरपुर। मातगुवां थाना क्षेत्र के ककरदा गांव निवासी एक युवक की हत्या किए जाने के मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी अंकित उर्फ अजयपाल सिंह परमार निवासी ककरदा और भूपेंद्र बुंदेला निवासी अनगौर 3 अप्रैल 19 को लुधियाना (पंजाब) के सानेवाल में जाकर ककरदा निवासी राजकुमार अहिरवार की गला रेत कर हत्या कर मौके से फरार हो गए थे। मातगुवां पुलिस ने दोनों आरोपियों को रविवार को बरद्वाहा तिराहे के पास से गिरफ्तार किया है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए लुधियाना सानेवाल पुलिस भी पिछले दो दिनों से मातगुवां में डेरा डाले थी। दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद मातगुवां पुलिस ने पंजाब पुलिस के सुपुर्द कर दिया है।

क्या है मामला 

दरअसल ककरदा निवासी राजकुमार अहिरवार अंकित परमार की बहन दीपा से प्यार करता था। दोनो शादी करना चाह रहे थे, लेकिन जब दोनों परिवार के लोग शादी के लिए तैयार नहीं हुए तो वर्ष 2011 में राजकुमार और दीपा घर से भाग कर दिल्ली चले गए और दोनों ने विवाह कर लिया। विवाह के कुछ दिनों बाद दोनों लोग दिल्ली से लुधियाना सानेवाल चले गए और वहीं पर किराए के मकान में रहने लगे। जाति बिरादरी से बाहर शादी किए जाने से दीपा के परिजन काफी नाराज थे। एक-दो वर्ष बाद दीपा अपने भाई अंकित से फोन पर बातचीत करने लगी। तभी अंकित को पता चला कि दीपा राजकुमार के साथ सानेवाल में रह रही है। इसी बीच अंकित ने राजकुमार को मारने का प्लान तैयार किया और 3 अप्रैल को अंकित अपने दोस्त भूपेंद्र बुंदेला के साथ सानेवाल पहुंचा और एक सूनसान जगह पर राजकुमार को बुलाकर उसकी हत्या कर दी। और दोनों लोग भाग कर ककरदा आ गए।

बहन को भी दी थी जान से मारने की धमकी

सानेवाल में रह रहे राजकुमार अहिरवार की हत्या करने के बाद दीपा के भाई अंकित और उसके दोस्त भूपेंद्र ने दीपा को भी जान से मारने की धमकी दी थी। जान से मारने की धमकी से डरी सहमी दीपा ने कई दिनों तक पुलिस को यह नहीं बताया कि उसके भाई ने धमकी दी है। जब दीपा से नहीं रहा गया तो उसने पुलिस को भाई अंकित द्वारा दी गई धमकी के बारे में बताया, तभी से सानेवाल पुलिस अंकित की तलाश में जुटी थी। बताया जा रहा है कि दीपा के दो बच्चे हैं।