दैनिक भास्कर हिंदी: खजुराहो नृत्य समारोह में परोसे जाएंगे बुंदेली व्यंजन, तैयारी प्रारंभ

February 15th, 2019

डिजिटल डेस्क, खजुराहो। मध्य प्रदेश शासन संस्कृति विभाग के उस्ताद अलाउद्दीन खॉ संगीत एवं कला अकादमी मध्य प्रदेश संस्कृति परिषद् द्वारा आयोजित 45वां भारतीय शास्त्रीय नृत्य विधाओं पर आधारित खजुराहो नृत्य महोत्सव का आयोजन 20 से 26 फरवरी के बीच होगा। उक्त समारोह की तैयारियों तथा व्यवस्थाओं से संबंधित एक बैठक न.प.खजुराहो के सभागार में सम्पन्न हुई।

जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में आयोजित उक्त बैठक में पुलिस अधीक्षक-तिलक सिंह,राजनगर विधायक कुं.विक्रम सिंह "नातीराजा",नगर परिषद अध्यक्ष-श्रीमती कविता सिंह प्रमुख रूप से शामिल हुए। बैठक में भोपाल से आये आदेश धूरिया-कार्यक्रम अधिकारी कला अकादमी ने आयोजन से संबंधित जानकारी बैठक में रखी। बैठक में आयोजन को गरिमामय बनाने के लिए आमंत्रित अतिथियों को आमंत्रण, सुरक्षा, पार्किंग, पेयजल, स्ट्रीट लाइट, नृत्य स्थल की सफाई,स्वास्थ्य,फायर ब्रिगेड, साज-सज्जा, प्रचार-प्रसार सहित अन्य विषयों पर चर्चा की गई और बेहतर व्यवस्थाएं हेतु निर्देशित किया गया। इस समारोह में बड़ी संख्या में देशी-विदेशी पर्यटक और कलाप्रेमी आते हैं, उनके बैठने की जगह को भी तय किया गया।

बुुंदेली व्यंजनों के स्टाल लगेंगे
उक्त समारोह में कला परिषद् द्वारा ललित कलाओं की विभिन्न विधाओं के प्रदेश के कलाकारों को प्रशस्ति पत्र तथा 21 हजार रुपए की राशि से मूर्घन्य कलाकारों के नाम से सम्मानित किया जाएगा। विधायक कुं.विक्रम सिंह नातीराजा की पहल पर आयोजन प्रांगण में स्थानीय कलाकारों को प्रस्तुति का अवसर देने तथा देशी-विदेशी पर्यटकों का आकर्षण का केंद्र  बुन्देली व्यंजन के भी स्टाल लगाए जाएंगे।

कालिदास सम्मान पुरुष्कार दिए जाएंगे
इस समारोह के मंच से म.प्र.के सर्वोच्च राष्ट्रीय कालिदास सम्मान पुरुष्कार भी दिए जाएंगे। प्रतिदिन शाम 6.30 से नृत्य समारोह शुरू होगा और रात्रि 10 बजे सम्पन्न होगा। बैठक में अनुविभागीय अधिकारी पुलिस खजुराहो एम.पी.मराबी, तहसीलदार-ब्रजेश कुमार सिंह,मुख्य नगर पालिका अधिकारी खजुराहो-जाबिर खान, नायब तहसीलदार-ऋषभ ठाकुर, थाना प्रभारी खजुराहो-रावेन्द्र सिंह बागरी,रेंजर-जे.पी.मिश्रा,विद्युत मंडल खजुराहो-के.एस. घोषी,जी.के.शर्मा-कनिष्ठ संरक्षण सहायक भारतीय पुरातत्व विभाग,पत्रकार-आनंद अग्रवाल,एस.डी.ओ.-पी.डब्लू.डी.,मध्यप्रदेश पर्यटन विभाग सहित अन्य विभागों के अधिकारी-कर्मचारियों सहित अन्य सदस्यगण शामिल हुए। बैठक में जानकारी दी गई कि इस बार बजट की कमी के कारण आयोजन में देश-विदेश के पर्यटकों का आकर्षण का केंद्र नेपथ्य तथा आर्ट-मार्ट नहीं होगा।