दैनिक भास्कर हिंदी:  रिश्वत लेते  जनपद का लिपिक पकड़ाया, विवाह योजना का लाभ दिलाने मांगे थे 5 हजार रुपए

August 6th, 2019

डिजिटल डेस्क, रीवा। कर्मकार कल्याण मण्डल के अंतर्गत कन्या विवाह योजना के तहत 51 हजार रूपये की स्वीकृत राशि देने के लिए दस हजार की रिश्वत मांगने वाले लिपिक को मंगलवार को लोकायुक्त ने ट्रेप कर लिया। इस संबंध में बताया गया है कि  मंगलवार को सिंगरौली जिले के जनपद चितरंगी में पदस्थ सहायक ग्रेड-3 राजेश पाण्डेय पिता हीरालाल निवासी झरिया जिला सीधी को पांच हजार रूपये की रिश्वत लेते लोकायुक्त रीवा की टीम ने पकड़ा है। रिश्वत मांगे जाने की शिकायत बहरी  निवासी अवधेश सिंह गोड़ द्वारा लोकायुक्त कार्यालय रीवा में की गई थी। निरीक्षक अरविन्द तिवारी के नेतृत्व में मंगलवार को टीम सिंगरौली पहुंची और बाबू को पांच हजार रूपये लेते रंगे हाथ पकड़ लिया।

10 हजार की डिमाण्ड

शिकायकर्ता अवधेश सिंह गोड़ की चचेरी बहन फूलमती को कर्मकार कल्याण मण्डल के अंतर्गत कन्या विवाह योजना के तहत 51 हजार रूपये स्वीकृत हुए। जनपद के बाबू पर आरोप है कि उसने इस राशि के भुगतान के बदले में दस हजार रूपये की मांग रखी। पांच हजार रूपये एडवांस और पांच हजार रूपये योजना की राशि मिलने के बाद देने को कहा था। अवधेश ने गरीबी का हवाला देते हुए काफी आरजू-मिन्नत की, लेकिन वह नहीं माना। 

एक सप्ताह में दूसरी कार्रवाई 

बीते दिनों नगर निगम रीवा के लिपिक सचिन सिंह को भी ऐसे ही एक मामले में लोकायुक्त की टीम ने पकड़ा था। दुर्गेश सोंधिया निवासी निपनिया की शिकायत पर यह कार्यवाही हुई थी। दुर्गेश की बहन के विवाह पर योजना के तहत 51 हजार रूपये स्वीकृत हुए थे। जिस पर दस हजार की मांग लिपिक सचिन सिंह द्वारा की गई थी। इस बाबू ने भी पांच हजार एडवांस और पांच हजार रूपये बाद में देने को कहा था। चालाकी दिखाते हुए बाबू ने रिश्वत की रकम एक पान विक्रेता को दिलाई थी। लेकिन इस कार्यवाही के बाद भी सबक नहीं लिया गया और इस योजना में रिश्वत की मांग का दौर जारी रहा।

इनका कहना है

सिंगरौली जिले के जनपद पंचायत चितरंगी में पदस्थ लिपिक राजेश पाण्डेय के विरूद्ध विवाह योजना की राशि भुगतान को लेकर रिश्वत मांगे जाने की शिकायत आई थी। पांच हजार रूपये लेते आरोपी लिपिक को रंगे हाथ पकड़ा गया है।- राजेन्द्र कुमार वर्मा, एसपी लोकायुक्त रीवा

खबरें और भी हैं...