• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • CM said - I will come in January and calculate the work of Bijawar, write a new history of development

दैनिक भास्कर हिंदी: सीएम ने कहा - जनवरी में आकर बिजावर के कामों का हिसाब दूंगा , विकास का नया इतिहास लिखेंगे 

November 4th, 2019

डिजिटल डेस्क छतरपुर। प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने रविवार को बिजावर में आयोजित मौनिया महोत्सव में कहा कि वे शिवराज सिंह चौहान की तरह घोषणावीर नहीं हैं, वे वचन देते हैंं कि बिजावर के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। कमलनाथ ने  दौरान पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा के 15 साल के शासन को कई बार निशाने पर लिया। 
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बिजावर विधायक राजेश शुक्ला बबलू की क्षेत्र के विकास से जुड़ी 20 से ज्यादा मांगों को लेकर कहा कि ताज्जुब है, 15 साल भाजपा की सरकार रही। 15 साल बाद भी विधायक बबलू ने इतनी बुनियादी मांगे रखीं। मैंने सुना कि शिवराज सिंह ने दो बार तो गोद ले लिया। मौका मिलता तो तीसरी दफे भी गोद ले लेते, लेकिन आपने उन्हें मौका नहीं दिया। इस बार आपने बबलू का साथ दिया। सच्चाई का साथ दिया। जितना धोखा 15 साल हुआ। यह आगे नहीं होने वाला है। यह वचन देता हूं। घोषणावीर तो 15 साल रहे। कमलनाथ घोषणा नहीं करते।  आपको वचन देता हूं कि बिजावर के विकास का नया इतिहास बनाएंगे। मुख्यमंत्री ने जनवरी में छतरपुर आने का वादा करने के साथ ही जोड़ा कि तभी आपको को पता चल जाएगा कि दो माह में बिजावर में कितना विकास हो गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास के मामले में बिजावर हमेशा से उपेक्षा का शिकार रहा है, इसलिए वे स्वयं यहां आकर स्थिति से अवगत होना चाहते थे, ताकि यहां विकास के सभी जरूरी कार्य हो सके। 
स्टेडियम और तालाब का होगा विकास
कार्यक्रम में शामिल होने आए नगरीय विकास मंत्री जयवर्धन सिंह ने कहा कि बिजावर में स्टेडियम का विकास किया जाएगा। स्टेडियम के साथ ऐतिहासिक तालाब के सौंदर्यीकरण के लिए एक करोड़ 35 लाख रुपए दिए जाने की घोषणा की। वहीं जिले के प्रभारी मंत्री बृजेन्द्र सिंह राठौर ने कहा कि छतरपुर जिले में नदियों के जल को रोककर सिंचाई की सुविधा और पेयजल की उपलब्धता बढ़ाई जाएगी, जिससे पलायन रुकेगा और क्षेत्र में खुशहाली आएगी। ग्रामोद्योग मंत्री हर्ष यादव ने कहा कि बुंदेलखंड की धरती खनिज सम्पदा से भरपूर है, परंतु यहां के रहने वाले लोग विकास से कोसों दूर हैं। सरकार इस दिशा में निरंतर विकास के कार्य कर रही है। उन्होंने प्रदेश सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि वर्तमान में विद्युत उपभोक्ताओं को 100 रुपए में 100 यूनिट बिजली दी जा रही है। सामाजिक सुरक्षा पेंशन दोगुनी कर 600 रुपए प्रतिमाह की गई है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने वर्षों से उपेक्षित पिछड़ा वर्ग के लिए 14 प्रतिशत से बढ़ाकर 27 प्रतिशत आरक्षण देने का प्रावधान किया है।
 

खबरें और भी हैं...