दैनिक भास्कर हिंदी: छतरपुर: कलेक्टर ने चलित वाहन प्रदर्शनी का किया अवलोकन 10 दिवसीय कोविड-19 जागरूकता कार्यक्रम का हुआ समापन

October 23rd, 2020

डिजिटल डेस्क, छतरपुर। छतरपुर कोरोना जागरूकता जन आंदोलन के अंतर्गत सही जानकारी जन जन तक पहुंचाने के उद्देश्य से सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार के क्षेत्रीय लोक संपर्क ब्यूरो, इकाई-छतरपुर द्वारा 13 अक्टूबर से प्रारंभ कर शहरी एवं आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर चलित वाहन प्रदर्शनी, मेघा प्रचार ,वॉल पेंटिंग, बैनर, पंपलेट, मास्क वितरण कर हाथ धोने के सही तरीका बता कर हाथ धुलवाया गया व सेनेटाइजर देकर उपयोग करवाया गया। आज 10 दिवसीय चलित वाहन प्रदर्शनी के समापन अवसर पर कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह एवं जिपं सीईओ अमर बहादुर सिंह द्वारा प्रदर्शनी का अवलोकन कर समापन किया गया। कलेक्टर ने कहा कि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के द्वारा कोरोना जागरूकता जन आंदोलन के अंतर्गत किया गया 10 दिवसीय प्रचार प्रसार सार्थक और सराहनीय कार्य है। क्षेत्रीय लोक संपर्क ब्यूरो के श्रवण कुमार साहू प्रचार अधिकारी द्वारा प्रचार कार्य के बारे में जानकारी देते हुए बताया गया कि आमजनों को जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं और बदल कर अपना व्यवहार करें कोरोना पर वार की बात को ध्यान में रखने के लिए जागरूक किया गया। उन्होंने बताया कि अभी तक कोरोना वायरस की कारगर दवाई या वैक्सीन नहीं बनी है। जानकारी ही इसका इलाज है। कोरोना गाइडलाइन के अनुसार सावधानी एवं सुरक्षित उपाय को अपनाकर कोरोना पर वार किया जा सकता है। सभी को स्वच्छता और शारीरिक दूरियां बनाए रखना चाहिए और बार-बार हाथ धोने की आदत भी डालना चाहिए। आमजनों को साबुन और पानी से साफ़ दिखने वाले हाथ भी 20 सेकंड तक अच्छी तरह से धोकर सेनीटाईजर का उपयोग करना जरूरी है। भीड़-भाड़ वाली जगह में जाने पर मास्क सही तरीके से पहनना जरूरी है। इस दौरान 2 गज की दूरी बनाकर रखना चाहिए। आगामी त्यौहारों पर गले न मिलकर और हाथ न मिलाते हुए दूर से हाथ जोड़कर अभिवादन करने की आदत बनाने की जरूरत है। खांसते-छींकते समय रुमाल या टिश्यू से मुंह और नांक ढंकने, बातचीत के दौरान व्यक्ति से दूरी बनाकर रखने, लक्षणों की जांच नियमित रूप से कराने, अस्वस्थ्य महसूस करने पर अथवा बुखार, सांस लेने में कठिनाई, खांसी, सिरदर्द, सर्दी, जुकाम आदि लक्षण दिखने पर नजदीक के स्वास्थ्य केंद्र में जाकर डॉक्टर से मिलने के बारे में भी जागरूक किया गया।