comScore

कबाड़ व्यापारी के यहां वाणिज्य कर विभाग का छापा, 10 लाख रू. किए सरेण्डर

September 30th, 2019 19:52 IST
कबाड़ व्यापारी के यहां वाणिज्य कर विभाग का छापा, 10 लाख रू. किए सरेण्डर

 डिजिटल डेस्क रीवा । बोगस आईटीसी के मामले में राज्य कर विभाग की एंटी इवीजन ब्यूरो ने रीवा में फिर एक कबाड़ व्यापारी के यहां छापामारी की है। शहर में इस तरह की यह दूसरी कार्यवाही करते हुए टीम ने व्यापक गड़बड़ी पकड़ी है। व्यापारी ने इस छापा के बाद मौके पर दस लाख रूपये सरेण्डर किए हैं। पीटीएस चौराहा मार्ग पर साहू ट्रेडर्स पर दोपहर साढ़े 12 बजे छापा मारा गया। बालमुकुंद साहू के इस फर्म के साथ ही अर्जुन नगर स्थित आवास और बरा स्थित गोदाम में भी छापा मारा गया। फर्म में भी इनका आवास है। बोगस आईटीसी के मामले में राज्य कर के संयुक्त आयुक्त केएन मीणा ने राज्य कर अधिकारी सतना अमित पटेल के नेतृत्व में टीम गठित कर छापामारी के लिए रीवा भेजी। बीस सदस्यीय इस टीम ने एंटी इवीजन ब्यूरो के साथ ही राज्य कर सतना सर्किल-दो के अधिकारी-कर्मचारी शामिल रहे।
इस तरह की गड़बड़ी
इनपुट टैक्स क्रेडिट से जुड़े इस मामले में बताया जा रहा है कि व्यापक फर्जीवाड़ा हुआ है। पेपरों में खरीदी हुई है, जबकि सामान का मूवमेन्ट नहीं हुआ। व्यापारी द्वारा फर्जी बिल, ई-वे बिल और बिल्टियों को पेश किया गया। इस तरह की जानकारी सामने आने पर छापामारी की गई है। रिकार्ड जब्त कर जांच होगी। फिलहाल दस लाख रूपये सरेण्डर हुए हैं।
रीवा की टीम कार्यवाही में शामिल नहीं
सोमवार को जो छापामारी हुई है, उसमें रीवा की टीम को शामिल नहीं किया गया।  एंटी इवीजन ब्यूरो और राज्य कर सतना सर्किल-2 की संयुक्त टीम तैयार कर कार्यवाही के लिए भेजी गई। देर शाम तक यहां कार्यवाही चलती रही। टीम ने स्टॉक चेक करने के साथ ही यहां से बिल सहित अन्य दस्तावेज देखे हैं। जानकारी के अनुसार टीम यहां से आवश्यक रिकार्ड जब्त कर सतना ले जाएगी, जहां गहन जांच की जाएगी। माना जा रहा है कि व्यापारी द्वारा अभी जो दस लाख रूपये सरेण्डर किए है, उससे काम नहीं चलने वाला। इस प्रतिष्ठान में व्यापक गड़बड़ी सामने आई है। ऐसा माना जा रहा है कि जांच प्रक्रिया पूरी होने पर लगभग दस लाख रूपये टैक्स और जमा करने पड़ सकते हैं। 
इनका कहना है
 बोगस आईटीसी के मामले में कबाड़ व्यापारी के यहां छापा मारा गया है। घर, दुकान और गोदाम में एक साथ दबिश देकर जांच की गई है। जांच के दौरान व्यापक अनियमितताएं सामने आई हैं। व्यापारी द्वारा दस लाख रूपये सरेण्डर किए गए हैं। जांच अभी जारी है। जांच पूरी होने पर ही पूरी स्थिति साफ होगी।
अमित पटेल, टीम प्रभारी

कमेंट करें
jdMCG