दैनिक भास्कर हिंदी: गर्भवती से मारपीट पर छतरपुर एसपी से राज्य मानव अधिकार आयोग ने मांगी रिपोर्ट

June 1st, 2021

डिजिटल डेस्क भोपाल छतरपुर । जिले के राजनगर थानांतर्गत ग्राम बन्दरगढ़ की एक दलित गर्भवती महिला के साथ उसके घर में घुसकर आरोपियों ने उस समय मारपीट की, जिस समय उसका पति घर से बाहर था। बीच-बचाव कर रही महिला की सास के साथ भी आरोपियों ने जमकर मारपीट की। आरोपियों ने पीडि़ता को कहीं भी शिकायत करने पर गंभीर अंजाम भुगतने की धमकी दी थी, लेकिन मीडिया में मामला आने पर राजनगर थाना प्रभारी ने पुलिस भेजकर पीडि़ता को थाने बुलवाया और उसकी शिकायत सुनकर आरोपियों के विरूद्ध एट्रोसिटी एक्ट सहित आईपीसी की धारा 452, 343, 323, 294, 506, 34 के तहत मामला दर्ज कर लिया। राज्य मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष नरेन्द्र कुमार जैन ने इस मामले में स्वत: संज्ञान लेकर पुलिस अधीक्षक, छतरपुर से दो सप्ताह में प्रतिवेदन मांगा है। मिली जानकारी के मुताबिक पीडि़त दलित महिला का पति गांव में ही मजदूरी करता है। गांव के ही बद्री पटेल के पुत्रों ने महिला के पति को अपने यहां काम करने को कहा था, लेकिन जब वह मजदूरी करने नहीं गया, तो दबंगों ने उसको इसका अंजाम भुगतने की धमकी देते हुये, अब गांव में आगे मजदूरी नहीं करने देने का फरमान सुनाया। इतना ही नहीं आरोपी उसे मारने के लिये ढूंढने लगे। इसकी जानकारी होने पर उक्त मजदूर डर के मारे कहीं छुप गया, तो आरोपी उसके घर पहुंच गये और उसकी गर्भवती पत्नी से उसके छोटे-छोटे बच्चों के सामने ही मारपीट कर दी। साथ ही उसके पेट में भी लात मार दी। मौके पर मौजूद पीडि़त महिला की बुजुर्ग सास ने मारपीट से रोका, तो आरोपियों ने उसे भी मारा और पुलिस में रिपोर्ट न करने की धमकी दी। साथ ही महिला को घर से बाहर न निकलने देने को लेकर पहरा भी बिठा दिया था।
 

खबरें और भी हैं...