• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Contracting company TSIPL fails to provide electricity reading and distribution of electricity bills

दैनिक भास्कर हिंदी: मीटिर रीडिंग व बिजली बिल वितरण कराने में ठेका कंपनी टीएसआईपीएल फेल

October 11th, 2019

डिजिटल डेस्क सिंगरौली (वैढऩ)। उपभोक्ताओं को बिजली से जुड़ी बेहतर व्यवस्थाएं मुहैया कराने में एक ठेका एजेंसी टीएसआईपीएल कंपनी की उम्मीदों को मटियामेल करने में लगी है। उसे न तो बिजली कंपनी की शाख की कद्र है और न ही बिजली उपभोक्ताओं की चिंता। यह बात हम नहीं बल्कि ठेका एजेंसी टीएसआईपीएल द्वारा दी जा रही आधी-अधूरी सेवाओं में काफी समय से झलकने लगा था। लेकिन इसके बाद भी बिजली कंपनी के स्थानीय अधिकारी इस ठेका एजेंसी टीएसआईपीएल की करतूतों पर पर्दा डालने पर लगे हैं। कमीशन के चक्कर में उपभोक्ताओं की सुविधा को दरकिनार करते हुये ये आला अधिकारी टीएसआईपीएल पर इस कदर मेहरबान हैं कि वह अपने फील्ड के अधिकारियों-कर्मचारियों से भी इस ठेका एजेंसी की कमियां सुनने को तैयार नही हैं। मजबूर होकर ग्रामीण क्षेत्र के कई कनिष्ठ अभियंताओं ने टीएसआईपीएल द्वारा स्कोप ऑफ वर्क के अनुसार कार्य नहीं करने की शिकायत गत दिवस अधीक्षण अभियंता से की है। जिसमें उन्होंने टीएसआईपीएल पर कई गंभीर आरोप भी लगाये गये हैं। लेकिन इसके बाद भी अधीक्षण अभियंता स्तर से टीएसआईपीएल पर कार्रवाई के बजाय खानापूर्ति वाला रवैया बना हुआ है। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि कमीशन के खेल में कंज्यूमर से जुड़ी तमाम सुविधाएं फेल हो रही हैं। 
टीएसआईपीएल पर आरोप
- पिछले 4 माह से ठेका एजेंसी के मीटर वाचकों द्वारा आवंटित क्षेत्र में डीटीआर व कंज्यूमर इंडेक्सिंग के कार्य की कोई जानकारी नहीं दी जा रही।
- ठेका की शर्तों के मुताबिक मीटर रीडरों को कम से कम 1 जीबी रैम व 5 मेगापिक्सल कैमरे का मोबाइल फोन नहीं उपलब्ध कराये जाने से फोटो मीटर रीडिंग की खराब व धुंधली फोटो ली जा रही है।
- उपभोक्ताओं को वितरित किये जाने वाले बिल की उपभोक्ताओं के हस्ताक्षरयुक्त पावती ठेका एजेंसी के लोगों द्वारा उपलब्ध कराना था। लेकिन पिछले 4 माह से इससे संबंधित कोई जानकारी नियमत: उपलब्ध नहीं कराई जा रही है। 
- नियमत: ठेका एजेंसी के मीटर रीडरों की शैक्षणिक योग्यता की जानकारी भी आज तक नहीं उपलब्ध कराई गई है। 
- ठेका एजेंसी द्वारा अपने किसी भी मीटर रीडर को आज तक फोटो युक्त आईडी कार्ड उपलब्ध नहीं कराया गया है। 
- मीटर रीडिंग का कार्य स्थल ऑफिस इंचार्ज द्वारा तय होता है। लेकिन टीएसआईपीएल द्वारा बिना सूचना के मीटर रीडिंग का कार्य स्थल बदल दिया जाता है। 
- ठेका एजेंसी के मीटर रीडरों द्वारा घर-घर जाकर मीटर रीडिंग का कार्य न करके एक जगह बैठकर गलत व मनमानी रीडिंग की जा रही है। 
- ठेका एजेंसी के मीटर वाचक मूल कार्य के बजाय जेब भरने वाले अन्य कार्यों पर ज्यादा फोकस करते हैं। 
- टीएसआईपीएल के ग्रुप में कनिष्ठ अभियंताओं से आये दिन दुव्र्यवहार किया जाता है। 
 

खबरें और भी हैं...